ऐप हिंदी, तमिल, तेलुगु, कन्नड या मराठी में लोगों से बात करने की सुविधा देता है

ऐप हिंदी, तमिल, तेलुगु, कन्नड या मराठी में लोगों से बात करने की सुविधा देता है

ऐप हिंदी, तमिल, तेलुगु, कन्नड या मराठी में लोगों से बात करने की सुविधा देता है

कांग्रेस, आप, एनसीपी समेत बड़ी पार्टियों के नेता बना रहे Koo App पर अकाउंटपिछले कुछ हफ्तों से केंद्र सरकार और ट्विटर के बीच चल रहे घमासान के बीच तमाम बड़ी पार्टियों के नेताओं ने Koo App का रुख किया है.

नई दिल्ली: ट्विटर (Twitter) ने शनिवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) के पर्सनल हैंडल से भी ब्लू टिक हटा लिया है. इतना ही नहीं सोशल मीडिया साइट ने RSS के कई नेताओं के अकाउंट से भी ब्लू टिक हटा दिया गया था.  इससे पहले दिन में उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के पर्सनल अकाउंट से भी ब्लू टिक हटा दिया गया था. हालांकि, बाद में उस पर टिक रिस्टोर कर दिया था. ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है इससे पूर्व में भी सोशल मीडिया दिग्गज ने संयुक्त महासचिव कृष्ण गोपाल और अरुण कुमार, पूर्व महासचिव सुरेशभैयाजीजोशी और वर्तमानसंपर्क प्रमुखअनिरुद्ध देशपांडे जैसे बड़े RSS नेताओं के हैंडल से भी ब्लू टिक हटा दिया. अमेरिकी सोशल मीडिया कंपनी ट्विटर और केंद्र सरकार के बीच चल रहे विवाद का सीधा फायदा ट्टिटर (Twiter) जैसे के फीचर से लैस भारतीय ऐप कू (koo) को मिलता दिख रहा है.

देश की तमाम बड़ी पार्टियों के नेता अब Koo App पर अपने ऑफिशियल एकाउंट (Official Accounts) बना रहे हैं. कांग्रेस, आप, एनसीपी समेत बड़ी पार्टियों के नेता बना रहे Koo App पर अकाउंटपिछले कुछ हफ्तों से केंद्र सरकार और ट्विटर के बीच चल रहे घमासान के बीच तमाम बड़ी पार्टियों के नेताओं ने Koo App का रुख किया है.

इन्होंने भी शुरू किया Koo का इस्तेमाल 

जानकारी के मुताबिक राजस्थान के मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता अशोक गहलोत (Ashok Gehlot on Koo App) ने हाल ही में अपना ऑफिशियल अकाउंट Koo App पर बनाया है. मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ भी Koo App (Kamal Nath on Koo App) पर काफी पॉपुलर हो रहे हैं. इधर आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह (AAP Sanjay Singh on Koo) भी इन दिनों इस माइक्रो-ब्लॉगिंग ऐप पर काफी एक्टिव हैं. आम आदमी पार्टी (Aam Admi Party) के विधायक और वरिष्ठ नेता राघव चड्ढा (Raghav Chadha) भी प्लेटफॉर्म पर लगातार पोस्ट कर रहे हैं. भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर रावण और लोजपा अध्यक्ष चिराग पासवान भी Koo App पर एक्टिव बताया जा रहा है कि ट्विटर के भारत में बंद के अंदेशे के बीच बड़े और प्रभावी नेताओं ने मेड इन इंडिया ऐप्स का रुख किया है.   

ये भी पढ़ें – Twitter Blue को लेकर बड़ा अपडेट! बताया कब शुरू होगा दूसरे देशों में और कितने का होगा प्लान

चुनाव के मद्देनजर इन पार्टियों के नेता भी कर सकते इसका रूख

एक तरफ जहां कई बड़े नेताओं के जल्द कू पर आने की उम्मीद है तो वहीं अगले साल होने जा रहे  उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों (UP Assembly Election on Koo) को देखते हुए समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) और बहुजन समाज पार्टी (Bahujan Samaj Party) के नेता भी जल्द अपने अकाउंट कू ऐप पर बना सकते हैं.

ऐसे करें Koo App  डाउनलोड

सबसे पहले अपने मोबाइल के ऐप स्टोर पर जाएं. यहां Koo App सर्च करें. ऐप को डाउनलोड करने के बाद आपको अपने मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी के जरिए रजिस्टर करना होगा. एक बार प्रोसेस पूरा होने के बाद आप अपने पसंदीदा लोगों Koo App पर फॉलो कर सकते हैं.  अपने स्थानीय भाषा में करें लोगों से बातKoo App की सबसे खास विशेषता ये है कि इस माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म को यूज करने के लिए आपको अंग्रेजी के ज्ञान की जरूरत नहीं है. आप यहां हिंदी, तमिल, तेलुगु, कन्नड या मराठी में लोगों से बात कर सकते हैं.





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here