शुभेंदु एवं उनके भाई पर आरोप है कि उनके कहने पर नगर पालिका कार्यालय के गोदाम का ताला जबरदस्ती खोला गया और यहां से सरकारी त्रिपाल की चोरी की गई। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar

  • Hindi News
  • National
  • Suvendu Adhikari, Brother Accused Of Stealing Relief Material Case Filed In West Bengal

कोलकाताएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
शुभेंदु एवं उनके भाई पर आरोप है कि उनके कहने पर नगर पालिका कार्यालय के गोदाम का ताला जबरदस्ती खोला गया और यहां से सरकारी त्रिपाल की चोरी की गई। (फाइल फोटो) - Dainik Bhaskar

शुभेंदु एवं उनके भाई पर आरोप है कि उनके कहने पर नगर पालिका कार्यालय के गोदाम का ताला जबरदस्ती खोला गया और यहां से सरकारी त्रिपाल की चोरी की गई। (फाइल फोटो)

पश्चिम बंगाल में भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी और उनके भाई सोमेंदु के खिलाफ FIR दर्ज कराई गई है। उन पर नगरपालिका से राहत सामग्री चुराने का आरोप लगाया गया है। कांठी नगरपालिका प्रशासनिक बोर्ड के मेंबर रत्नदीप मन्ना ने कांठी पुलिस स्टेशन में एक जून को भाजपा नेता और उनके भाई के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। सोमेंदु कांठी नगर पालिका के पूर्व म्यूनिसिपल चीफ भी रह चुके हैं।

सेंट्रल आर्म्ड फोर्स का भी इस्तेमाल किया
शिकायत में कहा गया है कि 29 मई को दोपहर करीब 12.30 बजे शुभेंदु एवं उनके भाई के कहने पर नगर पालिका कार्यालय के गोदाम का ताला जबरदस्ती खोला गया और यहां से सरकारी त्रिपाल को ले जाया गया। इसकी कीमत करीब एक लाख रुपए बताई जा रही है। शिकायत में बताया गया कि चोरी के दौरान भाजपा नेताओं ने सेंट्रल आर्म्ड फोर्स का भी इस्तेमाल किया।

धोखाधड़ी के केस में शुभेंदु का करीबी गिरफ्तार
मामला उस दिन दर्ज किया गया, जब शुभेंदु के एक करीबी सहयोगी को कोलकाता पुलिस ने धोखाधड़ी के केस में गिरफ्तार किया था। राखल बेरा को 2019 में सिंचाई और जलमार्ग मंत्रालय में नौकरी का झांसा देकर एक व्यक्ति को ठगने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि उसने दो लाख रुपए का भुगतान किया, फिर भी उसे नौकरी नहीं मिली।

शुभेंदु ने ममता को हराया था
शुभेंदु ने विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को नंदीग्राम सीट से 1956 वोटों से मात दी थी। चुनाव में पहली बार भाजपा मुख्य विपक्षी पार्टी बनकर उभरी। कुल 292 सीटों में से तृणमूल को 213 सीटों पर जीत दर्ज की। भाजपा के खाते में 77 सीटें आईं। दो सीटों पर अन्य ने जीत दर्ज की। वहीं, कांग्रेस और लेफ्ट गठबंधन का खाता तक नहीं खुला था।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here