Home Sports Sivaramakrishnan says, Hardik Pandya can be next finisher after Dhoni in white-ball...

Sivaramakrishnan says, Hardik Pandya can be next finisher after Dhoni in white-ball cricket | India tour of Sri Lanka; India vs Sri lanka ODI series | पूर्व स्पिनर शिवरामाकृष्णन बोले- पंड्या मैच फिनिशर के तौर पर पहली पसंद; धवन अब भी सिलेक्टर्स की नजर में, तभी श्रीलंका गए

शिवरामाकृष्णन ने कहा कि धोनी के जाने के बाद से भारतीय टीम में मैच फिनिशर्स की कमी रही है। हार्दिक इस कमी को पूरी कर सकते हैं। - Dainik Bhaskar

  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • Sivaramakrishnan Says, Hardik Pandya Can Be Next Finisher After Dhoni In White ball Cricket | India Tour Of Sri Lanka; India Vs Sri Lanka ODI Series

मुंबई25 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
शिवरामाकृष्णन ने कहा कि धोनी के जाने के बाद से भारतीय टीम में मैच फिनिशर्स की कमी रही है। हार्दिक इस कमी को पूरी कर सकते हैं। - Dainik Bhaskar

शिवरामाकृष्णन ने कहा कि धोनी के जाने के बाद से भारतीय टीम में मैच फिनिशर्स की कमी रही है। हार्दिक इस कमी को पूरी कर सकते हैं।

भारत के पूर्व स्पिनर लक्ष्मण शिवरामाकृष्णन ने मैच फिनिशर के तौर पर हार्दिक पंड्या को पहली पसंद बताया है। उन्होंने कहा कि हार्दिक ताबड़तोड़ बल्लेबाजी से किसी भी मैच को पलटने की क्षमता रखते हैं और टी-20 वर्ल्ड कप में वे इसी रोल में नजर आएंगे। हार्दिक दुनिया के बेस्ट मैच फिनिशर्स में शुमार एमएस धोनी का रोल निभा सकते हैं।

शिवरामाकृष्णन ने कहा कि शिखर धवन वर्ल्ड कप के लिए अब भी सिलेक्टर्स की नजर में हैं। इसी वजह से ही उन्हें श्रीलंका दौरे पर भेजा गया है। अगर ऐसा नहीं होता, तो सिलेक्टर्स किसी यंग प्लेयर को भेजते।

लेग स्पिनर शिवरामाकृष्णन ने 1980 के दशक में भारत के लिए डेब्यू किया था। उन्होंने 9 टेस्ट में 26 विकेट लिए। वे फिलहाल ICC में प्लेयर्स रिप्रजेंटेटिव भी हैं।

लेग स्पिनर शिवरामाकृष्णन ने 1980 के दशक में भारत के लिए डेब्यू किया था। उन्होंने 9 टेस्ट में 26 विकेट लिए। वे फिलहाल ICC में प्लेयर्स रिप्रजेंटेटिव भी हैं।

धवन की टक्कर राहुल और पृथ्वी शॉ से
शिवरामाकृष्णन ने हिंदुस्तान टाइम्स को दिए इंटरव्यू में कहा कि धवन के पास अनुभव और कई तरह के शॉट्स खेलने की काबिलियत है। वह हमेशा टीम के लिए अच्छा परफॉर्म करते हैं। वे IPL के पिछले 2 सीजन में कामयाब रहे हैं। उम्मीद करता हूं इस सीरीज में भी उनका फॉर्म जारी रहेगा। व्हाइट बॉल क्रिकेट में उनका रिकॉर्ड शानदार है। धवन को टीम में जगह बनाने के लिए लोकेश राहुल और पृथ्वी शॉ जैसे खिलाड़ियों से टक्कर लेना है।

राहुल पिछले कुछ सालों में टी-20 में भारत के हाईएस्ट रन स्कोरर रहे हैं। वहीं, धवन ने 2020 और 2021 IPL में अब तक सबसे ज्यादा रन बनाए हैं।

राहुल पिछले कुछ सालों में टी-20 में भारत के हाईएस्ट रन स्कोरर रहे हैं। वहीं, धवन ने 2020 और 2021 IPL में अब तक सबसे ज्यादा रन बनाए हैं।

पृथ्वी शॉ को लेग साइड पर काम करने की जरूरत
शिवरामाकृष्णन ने कहा कि श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में पृथ्वी ही धवन के ओपनिंग पार्टनर के तौर पर नजर आएंगे। पृथ्वी ऑफसाइड के शानदार प्लेयर हैं। अगर वे कुछ ओवर टिक जाते हैं और लेग साइड स्ट्रोक को इम्प्रूव करते हैं और तो उनका महत्व बढ़ जाएगा। पृथ्वी को बस अपनी फिटनेस, फील्डिंग और बैटिंग पर ध्यान देना है। वे टेस्ट में भी एक कामयाब बैट्समैन बन सकते हैं।

हार्दिक के रहने से टीम बैलेंस रहती है
शिवरामाकृष्णन ने कहा कि हार्दिक अगर बॉलिंग करना शुरू करते हैं, तो वे टीम के अहम सदस्य साबित हो सकते हैं। काफी दिनों बाद टीम इंडिया को एक बेहतरीन फास्ट बॉलिंग ऑलराउंडर मिला है। उनके आने से टीम बैलेंस रहती है। टेस्ट में भी वे टीम इंडिया के लिए अहम होंगे। वे आक्रमक बैटिंग से मैच पलट सकते हैं। धोनी के जाने के बाद से भारतीय टीम में मैच फिनिशर्स की कमी रही है। हार्दिक इस कमी को पूरी कर सकते हैं।

भारत के 2 रिस्ट स्पिनर्स युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव दोनों को ही खराब फॉर्म की वजह से नेशनल साइड से जगह गंवानी पड़ी। हालांकि, श्रीलंका दौरे से दोनों वापसी करना चाहेंगे।

भारत के 2 रिस्ट स्पिनर्स युजवेंद्र चहल और कुलदीप यादव दोनों को ही खराब फॉर्म की वजह से नेशनल साइड से जगह गंवानी पड़ी। हालांकि, श्रीलंका दौरे से दोनों वापसी करना चाहेंगे।

शिवरामाकृष्णन ने कुलदीप को सपोर्ट किया
​​​​​​​शिवरामाकृष्णन ने साथ ही स्पिनर कुलदीप यादव का भी बचाव किया। चाइनामैन कुलदीप काफी समय से आउट ऑफ फॉर्म चल रहे हैं। इसी वजह से उन्हें टीम से भी अपनी जगह गंवानी पड़ी। अब कुलदीप को श्रीलंका दौरे पर टीम में जगह मिली है। जिसे वह पूरी तरह भुनाना चाहेंगे।

कुलदीप जल्द ही इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी करेंगे
​​​​​​​शिवरामाकृष्णन ने कहा कि कोरोना की वजह से डोमेस्टिक क्रिकेट नहीं हुए। विजय हजारे और सैयद मुश्ताक जैसे व्हाइट बॉल क्रिकेट तो खेले गए। पर रेड बॉल क्रिकेट यानी रणजी ट्रॉफी नहीं हुई। कुलदीप को डोमेस्टिक सीजन में ज्यादा बॉलिंग कर खुद को इम्प्रूव करने का मौका नहीं मिला। इंटरनेशनल सीरीज के रूप में ही उनके पास खुद को साबित करने का मौका है। वह एक बेहतरीन युवा स्पिनर हैं और जल्द ही वापसी करेंगे।

खबरें और भी हैं…

NO COMMENTS