विशेषज्ञ बोले- डेल्टा वैरिएंट के कारण बढ़ रहे नए मामले। - Dainik Bhaskar

  • Hindi News
  • International
  • Record Cases Were Found In Britain After Two And A Half Months, Unlocked 18 Days Ago, 6238 Cases In One Day, Weekly Cases Increased By 40%

लंदनएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक
विशेषज्ञ बोले- डेल्टा वैरिएंट के कारण बढ़ रहे नए मामले। - Dainik Bhaskar

विशेषज्ञ बोले- डेल्टा वैरिएंट के कारण बढ़ रहे नए मामले।

ब्रिटेन में कोरोना की तीसरी लहर का खतरा बढ़ता जा रहा है। शुक्रवार को यहां एक दिन में रिकॉर्ड 6238 केस मिले और 11 मरीजों की मौत हो गई। बीते ढाई महीनों में यह पहली बार है, जब एक दिन में मिलने वाले संक्रमितों का आंकड़ा 6 हजार के पार पहुंचा है।

इससे पहले 25 मार्च को यहां 6,118 मरीज मिले थे। खास बात यह है कि ब्रिटेन को अनलॉक हुए अभी सिर्फ 18 दिन ही हुए हैं। ऐसे में ब्रिटिश विशेषज्ञों को तीसरी लहर की चिंता सताने लगी है। विशेषज्ञों को डर है कि इसके पीछे कोरोना का डेल्टा वैरिएंट (बी.1.617.2) हो सकता है।

यह पूरे ब्रिटेन में फैल रहा है। इसे लेकर विशेषज्ञों ने सरकार से 21 जून को दी जाने वाली ढील को आगे बढ़ाने की गुजारिश की है। रिपोर्ट के मुताबिक, यहां डेल्टा वैरिएंट के अब तक 12 हजार 431 केस पाए गए हैं। इनमें से करीब साढ़े पांच हजार मामले महज एक हफ्ते में बढ़े हैं। आ‌ंकड़ों की मानें तो ब्रिटेन में बीते महीने के आखिरी हफ्ते में नए केस में मामूली बढ़त देखी गई थी। लेकिन देखते ही देखते यह 6 हजार को भी पार कर गई।

एक्सपर्ट्स की राय- 21 जून से दी जाने वाली ढील टाल दी जाए

कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी में भारतीय मूल के प्रोफेसर रवि गुप्ता ने कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर चिंता जाहिर की है। उन्होंने सलाह दी कि 21 जून को लॉकडाउन में दी जाने वाली ढील को अभी कुछ और हफ्तों के लिए टाल दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि हम टीकाकरण के उस स्तर तक पहुंचने से बहुत दूर नहीं हैं, जो हमें वायरस को रोकने में मदद करेगा। उन्होंने चेताया कि देश तीसरी लहर के शुरुआती चरण में हो सकता है।

चिंता: ब्रिटेन के बाद अनलॉक हुए देशों में 15 दिन में केस बढ़ने शुरू

ब्रिटेन 17 मई को अनलॉक हुआ था। उसके बाद से वहां साप्ताहिक केस 40% तक बढ़ गए हैं। इसके अलावा स्वीडन में 16%, पुर्तगाल में 16%, लग्जमबर्ग में 24%, आइसलैंड में 40%, रूस में 5% और आयरलैंड में 3% तक साप्ताहिक मामलों में वृद्धि हुई है। अच्छी बात यह भी है कि फ्रांस, ग्रीस, इटली, जर्मनी और स्पेन में स्थिति में सुधार है। पहली और दूसरी लहर में इन देशों खतरनाक स्थिति बनी हुई थी। अनलॉक होने के बाद फ्रांस में 17%, स्पेन में 9%, इटली में 31%, ग्रीस में 22% और जर्मनी में 27% तक साप्ताहिक मामलों में कमी आई है।

राहत: विदेशी पर्यटकों का स्वागत करने को फ्रांस ने पूरी की तैयारी

फ्रांस अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों के लिए फिर से खुद को तैयार कर रहा है। हालांकि प्रवेश सिर्फ उन्हें ही दिया जाएगा, जिनके पास पूर्ण वैक्सीनेशन की रिपोर्ट होगी। फ्रांस सरकार ने शुक्रवार को घोषणा करते हुए कहा कि वह टीका लगवा चुके यूरोपीय लोगों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के नियम को खत्म करता है। हालांकि, कोरोना से जूझ रहे देशों के पर्यटकों को अनुमति नहीं मिलेगी। इन देशों की सूची में भारत, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका समेत 16 देश शामिल हैं। मालूम हो कि फ्रांस की जीडीपी में ‘टूर एंड टूरिज्म’ व्यवसाय का सबसे बड़ा योगदान है।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here