राशिद खान ने  बताया कि उनके मम्मी-पापा उन्हें डॉक्टर बनाना चाहते थे. (Instagram/Rashid)

राशिद खान ने  बताया कि उनके मम्मी-पापा उन्हें डॉक्टर बनाना चाहते थे. (Instagram/Rashid)

राशिद खान ने बताया कि उनके मम्मी-पापा उन्हें डॉक्टर बनाना चाहते थे. (Instagram/Rashid)

राशिद खान (Rashid Khan) ने बताया कि वह क्रिकेट में अपने कौशल और तकनीक को बढ़ाने के लिए कभी किसी क्लब या अकादमी में नहीं गए. उन्होंने कहा कि यह उनका ‘स्वाभाविक खेल’ है जिसने उन्हें अपने करियर में अच्छा प्रदर्शन करने में मदद की है.

नई दिल्ली. अफगानिस्तान के स्टार स्पिनर राशिद खान (Rashid Khan) की गिनती दुनिया के बेहतरीन गेंदबाजों में होती है. कलाई का यह स्पिनर दुनियाभर की कई टी20 लीग में खेलता है. आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) का प्रतिनिधित्व करने वाले राशिद खाने ने बताया कि वह पढ़ने में काफी अच्छे थे और उनके परिजन उन्हें डॉक्टर बनाना चाहते थे. वह पाकिस्तान सुपर लीग में खेलने के लिए फिलहाल अबु धाबी में हैं.

22 वर्षीय राशिद ने एक इंटरव्यू में बताया कि कैसे उन्होंने क्रिकेट को एक पेशे के रूप में अपनाने के लिए कड़ी मेहनत की, जहां उनका परिवार उन्हें डॉक्टर बनाना चाहता था. उन्होंने कहा कि चूंकि उनके परिवार में कोई भी डॉक्टर नहीं है, उनके माता-पिता चाहते थे कि वह इस पेशे को चुनें और इसी कारण से उन्हें क्रिकेट खेलने की अनुमति नहीं मिली.

पाकिस्तान के पत्रकार सवेरा पाशा के साथ इंटरव्यू में राशिद ने कहा, ‘मुझे इस तरह क्रिकेट खेलने की अनुमति नहीं थी. हमारे परिवार में कोई डॉक्टर नहीं था, इसलिए मेरे माता-पिता चाहते थे कि मैं डॉक्टर बनूं. क्रिकेट मेरी शुरुआती योजनाओं में नहीं था और मुझे इसके लिए काफी संघर्ष करना पड़ा. मैं पढ़ाई में भी बहुत अच्छा था और मैं बिना किसी को बताए मैच खेलने के लिए जाता था.’

इसे भी पढ़ें, हरभजन ने विवाद बढ़ने के बाद मांगी माफी, खालिस्तानी को बताया था ‘शहीद’उन्होंने आगे बताया कि वह क्रिकेट में अपने कौशल को बढ़ाने के लिए कभी किसी क्लब या अकादमी में नहीं गए. उनका मानना ​​​​है कि यह उनका ‘स्वाभाविक खेल’ है जिसने उन्हें अपने करियर में अच्छा प्रदर्शन करने में मदद की है. राशिद ने अपने अब तक के छोटे से करियर में राशिद ने सभी फॉर्मेट में कुल 269 विकेट चटकाए हैं.





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here