विपक्ष बोला सरकार लाेगाें के मुफ्त टीका लगाने के बजाय उसे बेचकर मुनाफा कमा रही है। - Dainik Bhaskar

नई दिल्लीएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
विपक्ष बोला सरकार लाेगाें के मुफ्त टीका लगाने के बजाय उसे बेचकर मुनाफा कमा रही है। - Dainik Bhaskar

विपक्ष बोला सरकार लाेगाें के मुफ्त टीका लगाने के बजाय उसे बेचकर मुनाफा कमा रही है।

  • कैप्टन सरकार ने अस्पतालों को दी थी 42 हजार डोज
  • विपक्ष बोला- लोगों को मुफ्त टीका लगाने के बजाय बेच रही है सरकार

पंजाब सरकार द्वारा निजी अस्पतालाें काे ‘काेवैक्सीन’ का टीका दिए जाने पर विवाद खड़ा हाे गया। विपक्षी अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल ने आरोप लगाया कि पंजाब सरकार 400 रुपए में टीके प्राप्त कर रही है। इन्हें वह निजी अस्पतालों को 1,060 रुपए में बेच रही है। निजी अस्पताल हर व्यक्ति से 1,560 रुपए लेकर टीका लगा रहे हैं।

बादल ने कहा, ‘सरकार लाेगाें के मुफ्त टीका लगाने के बजाय उसे बेचकर मुनाफा कमा रही है।’ इन आराेपाें के बाद राज्य सरकार ने निजी अस्पतालों को दिए गए टीके वापस मंगा लिए हैं। राज्य के टीकाकरण प्रभारी विकास गर्ग ने कहा, ‘निजी अस्पतालाें काे टीका मुहैया कराने का पिछला आदेश वापस ले लिया गया है।’

जो खुराकें दी थी, 600 ही इस्तेमाल हुई: स्वास्थ्य मंत्री
पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इस निर्णय काे वापस लेने के लिए कहा है। निजी अस्पतालाें काे जाे वैक्सीन दी गई है, उसे उन्हें सरकार को लौटाना हाेगा। मैंने मामले की जांच का आदेश भी दिया है। राज्य सरकार लाेगाें काे मुफ्त में ही टीका लगाएगी।’ उन्होंने बताया, ‘निजी अस्पतालाें काे 42,000 खुराकें दी गई थीं। इनमें से अभी 600 टीकाें का ही इस्तेमाल हुअा है। बाकी टीके वापस मंगाए गए हैं।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here