प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में कोरोना और वैक्सीन की स्थिति को लेकर हाई लेवल मीटिंग की। - Dainik Bhaskar

  • Hindi News
  • National
  • PM Narendra Modi Reviewed On Vaccine Wastage And Corona Situation Wastage Of Vaccine

नई दिल्ली33 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में कोरोना और वैक्सीन की स्थिति को लेकर हाई लेवल मीटिंग की। - Dainik Bhaskar

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में कोरोना और वैक्सीन की स्थिति को लेकर हाई लेवल मीटिंग की।

देश के कई राज्यों से वैक्सीन की बर्बादी के कई मामले लगातार सामने आते रहते हैं। इसको लेकर अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपना सख्त रुख अपनाया है। उन्होंने शुक्रवार को देश में कोरोना और वैक्सीन की स्थिति को लेकर हाई लेवल मीटिंग की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को वैक्सीन की बर्बादी रोकने के सख्त आदेश दिए।

पीएम मोदी ने मीटिंग में कहा कि महामारी के इस दौर में हर एक वैक्सीन मायने रखती है। जितनी बर्बादी होगी, उसका मतलब होगा कि उतने लोगों ने अपना डोज गंवा दिया। यही कारण है कि हमें हर एक बर्बादी को रोकना होगा।

अधिकारियों ने मोदी को वैक्सीन उत्पादन का रोडमैप बताया
मीटिंग में राजनाथ सिंह, अमित शाह, डॉ. हर्षवर्धन, प्रकाश जावड़ेकर समेत कई बड़े मंत्री और अधिकारी शामिल रहे। इन सभी ने पीएम मोदी को वैक्सीन उत्पादन का रोडमैप और देश में वैक्सीनेशन की मौजूदा स्थिति के बारे में बताया। मोदी को बताया गया कि सरकार वैक्सीन बनाने वाली कंपनी के साथ मिलकर काम कर रही है। उत्पादन ईकाइयों को कच्चा माल और आर्थिक सहायता समेत सभी जरूरी चीजें उपलब्ध कराई जा रही हैं।

वैक्सीन बर्बादी में झारखंड-छत्तीसगढ़ सबसे आगे
वैक्सीन की बर्बादी कई तरीकों से हो रही है। इसमें एक यह भी है कि ट्रांसपोर्टेशन के समय भी वैक्सीन की कई शीशी टूट जाती हैं। हाल ही में केंद्र सरकार ने भी एक डाटा जारी करते हुए कहा था कि झारखंड और छत्तीसगढ़ में सबसे ज्यादा वैक्सीन की बर्बादी की जा रही है। हालांकि, इस पर दोनों राज्य की सरकार ने कहा था कि केंद्र सरकार के पास सही डाटा नहीं है।

पहले डोज के मामले में भारत ने अमेरिका को पीछे छोड़ा
वैक्सीन की सबसे ज्यादा एक डोज लगाने के मामले में भारत ने अमेरिका को भी पीछे छोड़ दिया है। भारत में अब तक 17.2 करोड़ लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लगाई गई है, जबकि अमेरिका में यह आंकड़ा अभी 16.9 करोड़ तक ही पहुंचा है। नीति आयोग के सदस्य वीके पॉल ने बताया कि भारत में 60% से ज्यादा बुजुर्ग आबादी को भी वैक्सीन का कम से कम एक डोज लग चुका है।

बच्चों के लिए चाहिए होंगे 25 करोड़ डोज
डॉ. वीके पॉल ने कहा कि हम भारत बायोटेक और WHO के साथ काम कर रहे हैं। उनके डेटा साझा किया जा रहा है। हम चाहते हैं कि यह मील का पत्थर जल्द ही हासिल हो जाए। देश में बच्चों का वैक्सीनेशन शुरू करने पर उन्होंने बताया कि बच्चों पर कोवैक्सिन और जाइडस की वैक्सीन के ट्रायल पहले से किए जा रहे हैं। हमें उनके लिए करीब 25 करोड़ डोज की जरूरत होगी। रणनीति बनाते समय इसे ध्यान में रखना होगा।

बंगाल में वैक्सीन के सर्टिफिकेट पर मोदी की जगह ममता की फोटो से बवाल
बंगाल सरकार ने राज्य में कोरोना वैक्सीन के सर्टिफिकेट पर प्रधानमंत्री मोदी की जगह ममता बनर्जी की फोटो लगा रही है। इस पर भाजपा ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस आपदा में भी सियासी मौके तलाश रही है। हालांकि, इससे पहले हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में तृणमूल ने ही सर्टिफिकेट पर मोदी की फोटो लगाए जाने की आलोचना की थी। साथ ही चुनाव आयोग से शिकायत भी की थी। इस पर भाजपा ने पलटवार करते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की आलोचना की है।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here