PM Narendra Modi Didn't Birthday Wishes to UP CM Yogi Adityanath BJP Strategy for UP Election 2022 | मोदी-शाह ने सोशल मीडिया पर यूपी के CM को बधाई नहीं दी, महामारी के बीच उत्तराखंड के CM को मोदी ने ट्वीट कर दी थी बधाई

  • Hindi News
  • National
  • PM Narendra Modi Didn’t Birthday Wishes To UP CM Yogi Adityanath BJP Strategy For UP Election 2022

नई दिल्ली4 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ काफी एक्टिव नजर आ रहे हैं।

इसी बीच योगी ने शनिवार को अपना 49वां जन्मदिन भी मनाया। हालांकि इस दिन उन्हें खास बधाई नहीं मिली। दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने सोशल मीडिया के जरिए योगी को बधाई नहीं दी। इस बात की चर्चा इसलिए भी हो रही है, क्योंकि महामारी के बीच मोदी ने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को तो ट्वीट कर बधाई दी थी।

हालांकि, मोदी-शाह को छोड़ कई मंत्रियों और BJP नेताओं ने सोशल मीडिया पर योगी को जन्मदिन की बधाई दी है। इनमें देवेंद्र फडणवीस, डॉ. रमन सिंह, नरेंद्र सिंह तोमर, स्मृति ईरानी, किरण रिजेजू और प्रकाश जावडेकर भी शामिल हैं।

सूत्रों के मुताबिक, प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान किसी के लिए भी बधाई जैसी कोई पोस्ट नहीं की है। इसमें पार्टी के सीनियर लीडर समेत विपक्ष के भी कई बड़े नेता शामिल हैं, जिनके लिए पीएम ने पोस्ट नहीं की। इसमें राजस्थान, गोवा, केरल और हरियाणा के मुख्यमंत्री भी शामिल हैं। हालांकि, इस बीच मामले में समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता आईपी सिंह ने एंट्री करते हुए इस दावे को झूठा करार दिया।

आईपी सिंह ने मोदी की एक सोशल मीडिया पोस्ट को सबके सामने उजागर किया, जिसमें पीएम उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को जन्मदिन की बधाई देते दिख रहे हैं। इसी के साथ आईपी सिंह ने तंज कसते हुए कहा कि तीरथ सिंह को बधाई देने वाले मोदी ने योगी को पूछा तक नहीं।

योगी पर दांव खेलने से बच सकती है भाजपा
अगले साल होने वाले विधानसभा और 2024 के लोकसभा चुनाव को देखते हुए यूपी सरकार में बड़ा फेरबदल होना तो तय है, लेकिन अटकलें थीं कि भाजपा योगी पर दांव खेलने से बच सकती है। या फिर योगी को हटा सकती है। हालांकि, भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री (संगठन) बीएल संतोष ने मंगलवार को ही इस तरह की अटकलों को अफवाह बताया। बीएल संतोष और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ने दो दिन यूपी सरकार के कामकाज की समीक्षा बैठक भी की थी। इसके बाद मंगलवार को उन्होंने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए योगी के कामकाज की तारीफ भी की थी।

मोदी के करीबी एके शर्मा को यूपी सरकार में बड़ी जिम्मेदारी मिल सकती है
शुक्रवार को एक बार फिर भाजपा सूत्रों ने बताया कि योगी को हटाया नहीं जाएगा, लेकिन कैबिनेट में काफी बड़े बदलाव किए जा सकते हैं। पूर्व नौकरशाह और मोदी के करीबी माने जाने वाले एके शर्मा को यूपी सरकार में बड़ी जिम्मेदारी दी जा सकती है। वहीं, कयास लगाए जा रहे हैं कि बीएल संतोष के दौरे के बाद राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह का भी यूपी दौरा हो सकता है।

बड़े बदलाव के सभी फैसले इस महीने लिए जा सकते हैं। कयास हैं कि केंद्रीय मंत्रिमंडल के विस्तार में भी यूपी के कुछ नए चेहरों को मौका दिया जाएगा। जिसका फायदा 2022 के विधानसभा चुनाव में पार्टी को मिल सके। इसमें जाति और क्षेत्रवाद को ध्यान में रखते हुए कई नए लोगों को मंत्रिमंडल में शामिल किया जाएगा। यह फैसला बीएल संतोष और राधा मोहन द्वारा योगी, सीनियर नेता, मंत्री और विधायकों से दो राउंड की बैठक के बाद लिया जाएगा।

गंगा में मिली लाशों ने विदेशी मीडिया में सुर्खियां बंटोरी
हाल ही में हुए पंचायत चुनाव में भाजपा को बहुत बड़ा झटका लगा था। भाजपा ने अपने गढ़ की कई सीटों को गंवाया था। यही कारण है कि भाजपा के बड़े मंत्री और नेता इतने एक्टिव नजर आ रहे हैं। कोरोना की दूसरी लहर के बीच योगी सरकार को भी कई एक्सपर्ट्स और विपक्षी नेताओं की आलोचनाओं का सामना करना पड़ा है।

यूपी के कई शहरों में गंगा नदी में लाशें तैरती हुई मिली थीं। यह तस्वीरें विदेशी मीडिया में बड़ी-बड़ी हैडिंग के साथ छपी थीं। इस पर योगी सरकार ने मीडिया को चीजें गलत तरीके से दिखाने का आरोप लगाया था। राज्य सरकार ने कहा था कि योगी जमीनी स्तर पर काम कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here