Petrol Diesel Under GST; Petroleum and Natural Gas Minister Rameshwar Teli On Council Recommendation | GST के दायरे में नहीं आएंगे पेट्रोलियम पदार्थ, काउंसिल ने नहीं की सिफारिश

  • Hindi News
  • Business
  • Petrol Diesel Under GST; Petroleum And Natural Gas Minister Rameshwar Teli On Council Recommendation

नई दिल्ली7 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पेट्रोल और डीजल GST के दायरे में नहीं आएंगे। सरकार ने सोमवार को लोकसभा में इसकी जानकारी दी। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस राज्य मंत्री रामेश्वर तेली ने कहा कि, अभी तक GST काउंसिल ने तेल और गैस को GST के दायरे में लाने के लिए कोई सिफारिश नहीं की है। सदन में सासंदों के पूछे गए सवाल पर रामेश्वर तेली ने लिखित में यह जानकारी दी।

सांसदों ने पूछा था सवाल
सदन में कई सांसदों ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कमी और पेट्रोलियम पदार्थों को GST के दायरे में लाने पर सवाल किया था। जिस पर मंत्री रामेश्वर तेली ने बताया कि फिलहाल पेट्रोलियम पदार्थों को GST के दायरे में लाने की कोई योजना नहीं है। और अभी तक GST काउंसिल ने तेल और गैस को GST के दायरे में शामिल करने की सिफारिश नहीं की है। इसलिए फिलहाल पेट्रोलियम को GST के दायरे से बाहर ही रखा जाएगा।

विकासकार्यों में होता है एक्साइज ड्यूटी का उपयोग
वित्त मंत्रालय ने बताया कि सरकार द्वारा पेट्रोलियम पर एक्साइज ड्यूटी वसूली जाती है। इस एक्साइज ड्यूटी का इस्तेमाल इंफ्रास्ट्रक्चर और डेवलपमेंट के काम के लिए होता है। वर्तमान में राजकोषीय हालत को देखते हुए यह फैसला लिया गया है।

एक्साइज ड्यूटी से होने वाली कमाई
पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस राज्य मंत्री ने लोकसभा में पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी से होने वाली कमाई के बारे में भी बताया। रामेश्वर तेली के मुताबिक, फाइनेंशियल ईयर 2020-21 में पेट्रोल-डीजल पर केंद्र सरकार द्वारा वसूले जाने वाले टैक्स में 88% की बढ़ोतरी हुई है। पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी 19.98 रुपए से बढ़कर 32.90 रुपए पर पहुंच गई है। वहीं डीजल पर एक्साइज ड्यूटी 15.83 से बढ़कर 31.80 रुपए पर पहुंच गई है।

एक्साइज ड्यूटी से कलेक्शन 3.35 लाख करोड़
फाइनेंशियल ईयर 2020-21 में पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी से कलेक्शन 3.35 लाख करोड़ रहा। वहीं 2019-20 में एक्साइज ड्यूटी कलेक्शन 1.78 लाख करोड़ रुपए रहा था। सालाना आधार पर इसमें 88% की बढ़ोतरी हुई है। 2018-19 में एक्साइज ड्यूटी कलेक्शन 2.13 लाख करोड़ रुपए रहा था।

चालू वित्त वर्ष अब तक 1 लाख करोड़ वसूले गए
वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने बताया कि, चालू वित्त वर्ष मे अप्रैल-जून के बीच सभी पेट्रोलियम प्रोडक्ट से अब तक 1.01 लाख करोड़ रुपए एक्साइज ड्यूटी के रूप में वसूली जा चुकी है। वित्त वर्ष 2020-21 में टोटल एक्साइज ड्यूटी कलेक्शन 3.89 लाख करोड़ रुपए रहा था।

आज के पेट्रोल-डीजल के दाम
आज दिल्ली में पेट्रोल के दाम 101.84 रुपए और डीजल के दाम 89.87 रुपए प्रति लीटर हैं। मुंबई में पेट्रोल की कीमत 107.83 रुपए और डीजल की कीमत 97.45 रुपए प्रति लीटर है। कोलकाता में पेट्रोल के दाम 102.08 रुपए जबकि डीजल के दाम 93.02 रुपए प्रति लीटर हैं। वहीं चेन्नई में भी पेट्रोल 100 के पार है यहां पेट्रोल 102.49 रुपए प्रति लीटर है तो डीजल 94.39 रुपए प्रति लीटर है।

खबरें और भी हैं…