Mimi Interview: Kriti Sanon played the role of a pregnant woman, wearing a heavy prosthetic belly by increasing her weight by 15 kg, again reduced her weight by 12 kg for 'Param Sundari' song | 15 किलो वेट बढ़ाकर भारी प्रोस्‍थेटिक बेली पहनकर कृति सेनन ने निभाया प्रेग्‍नेंट औरत का किरदार, 'परम सुंदरी' के लिए फिर घटाया 12 किलो वजन

  • Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Mimi Interview: Kriti Sanon Played The Role Of A Pregnant Woman, Wearing A Heavy Prosthetic Belly By Increasing Her Weight By 15 Kg, Again Reduced Her Weight By 12 Kg For ‘Param Sundari’ Song

अमित कर्णएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

‘हीरोपंथी’ फेम कृति सैनन ‘बरेली की बर्फी’ से अपने कंधों पर फिल्‍मों का वजन लेने लगी हैं। ‘आदिपुरूष’ शूट कर रहीं कृति सैनन की 30 जुलाई को नेटफ्ल‍िक्‍स और जियो पर ‘मिमी’ आ रही है। इसमें वो सरोगेट मदर के रोल में हैं। दैनिक भास्‍कर से हुई खास बातचीत में उन्‍होंने अपनी दिलचस्‍प तैयारियां शेयर की हैं। पेश हैं प्रमुख अंश-

-मिमी में किस किस्‍म की हीरोपंथी हैं?

मिमी बड़ी दबंग और इंपल्‍सि‍व है। मंडावा की सबसे बेस्‍ट डांसर है। मुंबई जाना है उसे। उसके कमरे की दीवारें रणवीर सिंह के पोस्‍टर्स से भरी पड़ी हैं। अपने सपनों को साकार करने के लिए रिस्‍क लेने को तैयार है। उसी क्रम में सरोगेट मदर बनने का मौका मिलता है, जिससे उसे एक साथ नौ महीने में 20 लाख रुपए मिल सकते हैं। हालांकि वह होता नहीं है। वह प्रेग्‍नेंट तो हो जाती है, मगर खरीददार भाग निकलते हैं। फिर क्‍या होता है, यह उस बारे में है।

-क्या मिमी मराठी फिल्‍म की रीमेक है?

जी हां। यह नेशनल अवॉर्ड विनिंग फिल्‍म ‘मला आय व्‍हायचय’ की रीमेक है। इसका बेसिक स्‍टोरी आयडिया मुझे बहुत पसंद आया था। मैं मेंटली तैयार रहती हूं वैसी फिल्‍में करने को, जिन्‍हें मैं अपने कंधों पर लेकर चल सकूं। ‘मिमी’ में बतौर एक्‍टर मुझे बहुत कुछ करने का मौका मिला है। यह बड़ी सीरियस फिल्‍म भी हो सकती थी, मगर डायरेक्‍टर लक्ष्‍मण उतेटकर को रुलाने के बजाय हंसाते हुए मैसेज देना पसंद है।

-पहले किस हिस्‍से को फिल्‍माया गया?

दरअसल यह फिल्‍म किसी रीजन के चलते दो शेड्यूल में शूट हुई थी। मिमी एक डांसर भी है। ऐसे में जब वह नॉन प्रेग्‍नेंट रहती है, तब वाला पोर्शन फिल्‍माया गया। फिर दो महीनों का ब्रेक था। उस ब्रेक में मुझे वजन 15 किलो बढ़ाना था। वह इसलिए कि डायरेक्‍टर की डिमांड थी। वह यह कि अगर वह मेरा क्‍लोज अप शॉट लें तो मैं वाकई प्रेग्‍नेंट लगूं। तभी मैंने वेट गेन किया। तीन महीने तक वर्कआउट तो दूर योगा करना भी अलाउ नहीं था। वजन का प्रभाव आप को पहले और दूसरे हाफ में दिखेगा।

-प्रॉस्‍थेटिक वगैरह की जरूरत नहीं ही पड़ी होगी?

बिल्‍कुल नहीं। हां प्रॉस्‍थेटिक बेली जरूर यूज की, क्‍योंकि प्रेग्‍नेंट तो हो नहीं सकती। मेकर्स ने मुझे ऑप्‍शन दिया था कि मैं हल्‍की वाली बेली भी यूज कर सकती हूं। वह मैंने मना कर दिया। मैंने कहा कि छह किलो वजनी प्रॉस्‍थेटिक बेली सही होगी। ताकि मैं एक प्रेग्‍नेंट विमेन की बॉडी लैंग्‍वेज पकड़ सकूं। महसूस कर सकूं कि मिमी क्‍या फील करती होगी। इस बार हमने बेबी डिलीवरी का सीन भी काफी विस्‍तार से जाहिर किया है। मेरी मां ने मुझे बताया भी था कि जब मैं हुई थी, तो उन्‍हें बहुत ज्‍यादा लेबर पेन हुआ था। फिल्‍म में हमने गर्भवती मिमी के उस वक्‍त को दर्द को चुटकियों में नहीं दिखाया है।

-15 किलो अतिरिक्‍त वजन घटाने में कितना वक्‍त गया?

दरअसल दूसरा शेड्यूल पूरा कर वापस लौटने के 10 दिन बाद तो पैंडेमिक ही आ गया था। ऐसे में हर कोई तकरीबन एक साल तक तो घर पर ही रहा। हालांकि उस शेड्यूल में हमने ‘परम सुंदरी’ गाना शूट नहीं किया। वह मेरी ही शर्त ही थी ताकि उस गाने में फिर से सुंदर दिखने के लिए वजन घटाने का कोई मोटिवेशन हो। मैंने फिर 15 किलो तो नहीं, मगर 12 किलो वजन चार महीने में कम कर लिया था। तीन किलो जो अतिरिक्‍त वेट था, उसे रहने ही दिया।

-सरोगेसी हर कंट्री में अलाउ होनी चाहिए?

‘मि‍मी’ की कहानी 12 साल पहले की है। एक सच्‍ची घटना पर आधारित है, जब पैसे का वादा कर एक विदेशी कपल इंडिया की एक युवती के पेट में सरोगेट बेबी को छोड़कर चला गया था। उसके बाद हमारे यहां हुकूमत ने कानून काफी सख्‍त कर दिए। विदेशी कपल अब सरोगेट बच्‍चा नहीं ले सकते। मेरे ख्‍याल से सरोगेसी वैसे लोगों के लिए वरदान हैं, जिन्‍हें बच्‍चा नहीं है। मेरे आसपास इन्‍फैक्‍ट कई लोग हैं, जिन्‍हें सरोगेसी से औलाद हासिल हुई हैं। कानून सख्‍त होने चाहिए, पर साथ ही वो संतुलित भी हों। कोई भी किसी का नाजायज फायदा न उठा पाए।

खबरें और भी हैं…