Jeff Bezos and three other passangers । succesfully complets Space tour | कैप्सूल से निकलते ही खुशी से उछल पड़े अमेजन के फाउंडर, उनकी कंपनी ने शुरू की स्पेस टूर की बुकिंग

9 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस मंगलवार को अंतरिक्ष की सैर करके लौट आए। उनकी ये यात्रा 11 मिनट की रही। बेजोस की यात्रा में उनके साथ 3 और यात्री शामिल थे। इसमें उनके भाई मार्क, 82 साल की वैली फंक और 18 साल के ओलिवर डेमेन शामिल थे।

बेजोस की यात्रा पूरी होने के बाद उनकी कंपनी ब्लू ओरिजन ने स्पेस टूर के लिए टिकट बुकिंग शुरू कर दी है। हालांकि, कंपनी ने अभी इसकी कीमत नहीं बताई है। 12 फोटो के जरिए देखिए बेजोस की अंतरिक्ष यात्रा…

बेजोस ने ब्लू ओरिजिन कंपनी के न्यू शेपर्ड रॉकेट में वेस्ट टेक्सास के रेगिस्तान से भारतीय समयानुसार शाम 6:42 बजे उड़ान भरी।

बेजोस ने ब्लू ओरिजिन कंपनी के न्यू शेपर्ड रॉकेट में वेस्ट टेक्सास के रेगिस्तान से भारतीय समयानुसार शाम 6:42 बजे उड़ान भरी।

अंतरिक्ष की यात्रा पर गए बेजोस के रॉकेट को कई लोगों ने वेस्ट टेक्सास के रेगिस्तान में कार के अंदर बैठकर देखा।

अंतरिक्ष की यात्रा पर गए बेजोस के रॉकेट को कई लोगों ने वेस्ट टेक्सास के रेगिस्तान में कार के अंदर बैठकर देखा।

स्पेस फ्लाइट भेजने वाली कंपनी ब्लू ओरिजिन ने इस ऐतिहासिक पल की सफलता के लिए सभी लोगों को बधाई दी है।

स्पेस फ्लाइट भेजने वाली कंपनी ब्लू ओरिजिन ने इस ऐतिहासिक पल की सफलता के लिए सभी लोगों को बधाई दी है।

जेफ बेजोस और उनके साथी धरती से 105 किमी ऊपर अंतरिक्ष तक गए थे।

जेफ बेजोस और उनके साथी धरती से 105 किमी ऊपर अंतरिक्ष तक गए थे।

न्यू शेपर्ड रॉकेट के आगले हिस्से में कैप्सूल लगाया गया था। इसमें ही अंतरिक्ष यात्री सवार थे।

न्यू शेपर्ड रॉकेट के आगले हिस्से में कैप्सूल लगाया गया था। इसमें ही अंतरिक्ष यात्री सवार थे।

बेजोस और उनकी टीम जिस रॉकेट शिप से गए, वह ऑटोनॉमस है यानी उसे पायलट की जरूरत नहीं पड़ती। इसके कैप्सूल में 6 सीटें हैं, लेकिन इनमें से सिर्फ 4 भरी गईं थीं।

बेजोस और उनकी टीम जिस रॉकेट शिप से गए, वह ऑटोनॉमस है यानी उसे पायलट की जरूरत नहीं पड़ती। इसके कैप्सूल में 6 सीटें हैं, लेकिन इनमें से सिर्फ 4 भरी गईं थीं।

रॉकेट के 80 किलोमीटर ऊपर पहुंचते ही कैप्सूल उससे अल ग हो गया था।

रॉकेट के 80 किलोमीटर ऊपर पहुंचते ही कैप्सूल उससे अल ग हो गया था।

जिस समय कैप्सूल 26 किलोमीटर की रफ्तार से नीचे आ रहा था, उस वक्त पैराशूट खुल गए।

जिस समय कैप्सूल 26 किलोमीटर की रफ्तार से नीचे आ रहा था, उस वक्त पैराशूट खुल गए।

कैप्सूल भारतीय समय अनुसार 6:53 बजे जमीन पर लैंड हुआ।

कैप्सूल भारतीय समय अनुसार 6:53 बजे जमीन पर लैंड हुआ।

कैप्सूल लैंड होने के बाद जेफ बेजोस अंदर बैठकर ही मुस्कुराते रहे और हाथ हिलाकर वहां खड़े लोगों का अभिवादन किया।

कैप्सूल लैंड होने के बाद जेफ बेजोस अंदर बैठकर ही मुस्कुराते रहे और हाथ हिलाकर वहां खड़े लोगों का अभिवादन किया।

सबसे पहले कैप्सूल से बेजोस ही निकले। उनकी खुशी का कोई ठिकाना नहीं था।

सबसे पहले कैप्सूल से बेजोस ही निकले। उनकी खुशी का कोई ठिकाना नहीं था।

82 साल की वैली फंक भी अंतरिक्ष की यात्रा करके बेहद खुश हुईं।

82 साल की वैली फंक भी अंतरिक्ष की यात्रा करके बेहद खुश हुईं।

खबरें और भी हैं…