सुनील गावस्कर ने कहा कि अगर इंग्लैंड टीम ग्रीन ट्रैक यानी तेज गेंदबाजी को मदद देने वाली पिच बनाती है, तो उन्हें कोई हैरानी नहीं होगी। - Dainik Bhaskar

  • Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • India Vs England 5 Match Test Series: Sunil Gavaskar Prediction India Will Beat England 4 0 |World Test Championship India Tour Of England

मुंबई2 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
सुनील गावस्कर ने कहा कि अगर इंग्लैंड टीम ग्रीन ट्रैक यानी तेज गेंदबाजी को मदद देने वाली पिच बनाती है, तो उन्हें कोई हैरानी नहीं होगी। - Dainik Bhaskar

सुनील गावस्कर ने कहा कि अगर इंग्लैंड टीम ग्रीन ट्रैक यानी तेज गेंदबाजी को मदद देने वाली पिच बनाती है, तो उन्हें कोई हैरानी नहीं होगी।

भारत के पूर्व क्रिकेटर और लीजेंड सुनील गावस्कर ने भारत और इंग्लैंड के बीच अगस्त में होने वाले 5 मैचों की टेस्ट सीरीज को लेकर भविष्यवाणी की है। उन्होंने कहा है कि टीम इंडिया ये सीरीज 4-0 से अपने नाम करेगी। वहीं, भारतीय तेज गेंदबाज इंग्लिश बैट्समैन को तंग करने में सफल होंगे। पहला टेस्ट 4 अगस्त से खेला जाएगा। इससे पहले भारत न्यूजीलैंड के खिलाफ 18 जून से वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल खेलेगा।

”WTC फाइनल के रिजल्ट का असर टेस्ट सीरीज पर नहीं होगा”
गावस्कर ने द टेलीग्राफ से कहा- इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज भारत के लिए शानदार होगा। इंग्लिश समर को टीम इंडिया अपने नाम कर सकती है। यह सीरीज वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के 6 हफ्ते से ज्याद के गैप के बाद है। इसलिए WTC फाइनल के रिजल्ट का इस सीरीज पर कोई असर नहीं पड़ेगा। भारतीय टीम अगस्त-सितबंर में होने वाली यह सीरीज आसानी से जीतेगी।

फरवरी-मार्च में मिली हार का बदला लेना चाहेगा इंग्लैंड
इंग्लिश कंडिशन में ड्यूक बॉल को काफी मदद मिलती है। अगर पिच गेंदबाजी के मुताबिक हुई, तो बॉल में स्विंग भी देखने को मिलता है। गावस्कर ने कहा कि अगर इंग्लैंड टीम ग्रीन ट्रैक यानी तेज गेंदबाजी को मदद देने वाली पिच बनाती है, तो उन्हें कोई हैरानी नहीं होगी। इंग्लैंड ने फरवरी-मार्च में भारत दौरे पर स्पिन फ्रैंडली भारतीय पिचों की आलोचना की थी। इंग्लैंड को भारत ने 3-1 से हराकर टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के लिए क्वालिफाई किया था। ऐसे में वे इंग्लैंड दौरे पर इसका बदला ले सकते हैं।

तेज गेंदबाजों को मदद पहुंचाने के लिए सीमिंग ट्रैक
​​​​​​​गावस्कर ने कहा- भारतीय पिचों को लेकर रोने वाली इंग्लैंड टीम निश्चित तौर पर अपने गेंदबाजों को मदद पहुंचाने की कोशिश करेगी। इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं होगी अगर ग्राउंड्समैन पिच पर हल्की घर छोड़ दे तो। हालांकि, टीम इंडिया को इससे घबराने की जरूरत नहीं है। भारत के पास शानदार बैटिंग लाइन अप है। इसके साथ ही घातक तेज गेंदबाज भी हैं, जो इंग्लिश बैटिंग लाइन अप को तहस-नहस कर सकती है।

4 अगस्त से टीम इंडिया इंग्लैंड के खिलाफ 5 टेस्ट खेलेगी
इंग्लैंड और भारत के बीच UK के नॉटिंघम में 4 अगस्त से 5 टेस्ट मैचों की सीरीज शुरू होगी। दूसरा टेस्ट 12 अगस्त को लॉर्ड्स में और तीसरा टेस्ट मैच 25 अगस्त को लीड्स में होगा। दूसरे और तीसरे टेस्ट के बीच 9 दिन का गैप है।

चौथा टेस्ट लंदन के ओवल मैदान पर 2 सितंबर से और 5वां और आखिरी टेस्ट मैनचेस्टर में 10 सितंबर से 14 सितंबर तक खेला जाएगा। इसके बाद टीम के खिलाड़ी UAE पहुंचेंगे। वहां, 18-19 सितंबर से IPL के बाकी बचे 31 मैच खेले जाने हैं।

3 दिन सख्त क्वारैंटाइन के नियमों का पालन करना होगा
भारतीय टीम गुरुवार को चार्टर्ड फ्लाइट से इंग्लैंड पहुंच गई। टीम को साउथैंप्टन में 3 दिन तक सख्त क्वारैंटाइन नियमों का पालन कर रही है। इस दौरान खिलाड़ियों की हर रोज कोरोना जांच भी की जाएगी। इसके बाद खिलाड़ियों को छोटे-छोटे ग्रुप में प्रैक्टिस की इजाजत दी जाएगी। 10 दिन के बाद खिलाड़ी नॉर्मल प्रैक्टिस कर सकेंगे।

परिवार वालों को भी साथ ले जाने की इजाजत
वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल के बाद खिलाड़ियों को बायो-बबल में रहने की जरूरत नहीं होगी। इस दौरान खिलाड़ियों को 42 दिन का ब्रेक मिलेगा। इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने भारतीय खिलाड़ियों को परिवार साथ लाने की इजाजत दी थी। चेतेश्वर पुजारा और विराट कोहली समेत कुछ खिलाड़ी अपने परिवार के साथ इंग्लैंड पहुंचे हैं।

भारत के लिए मुश्किल है इंग्लैंड टेस्ट सीरीज
WTC फाइनल और इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए भारत 9 तेज गेंदबाजों को साथ ले जा रहा है। इनमें मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह, शार्दूल ठाकुर, मोहम्मद सिराज, उमेश यादव, आवेश खान, प्रसिद्ध कृष्णा और अर्जन नागवासवाला शामिल है। भारत के लिए यह दौरा आसान नहीं रहने वाला है, क्योंकि टीम को पिछले 10 साल में सबसे ज्यादा हार इंग्लैंड की धरती पर ही मिली है।

टीम इंडिया ने इंग्लैंड में इस दौरान 14 टेस्ट खेले हैं। इसमें से 11 में भारत को हार का सामना करना पड़ा और वह सिर्फ 2 ही मैच जीत सकी। इस सीरीज में इंग्लैंड के बॉलर्स और इंडिया के बैट्समैन के बीच मुकाबला देखने को मिल सकता है। इंग्लिश टीम की ओर से पिछले 10 साल में भारत के खिलाफ सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले टॉप-5 गेंदबाज अभी भी टीम में मौजूद हैं। इनमें एंडरसन (94 विकेट), ब्रॉड (68 विकेट), मोइन (49 विकेट), बेन स्टोक्स (34 विकेट), आदिल रशीद (33 विकेट) शामिल हैं।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here