India Pakistan | India Pakistan Ecomony Compare By Pakistan Prime Minister Imran Khan | पाकिस्तान के PM बोले- हमारी इकोनॉमी भारत से ज्यादा बेहतर हो रही है, हालांकि हम हिंदुस्तान जैसे मजबूत नहीं

इस्लामाबाद13 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने दावा किया है कि हालिया महीनों में पाकिस्तान की इकोनॉमी भारत से बेहतर हुई है। मुल्तान में एक सरकारी कार्यक्रम के दौरान इमरान ने कहा- भारत की ग्रोथ रेट -7% है, जबकि पाकिस्तान की ग्रोथ रेट 4% है। हालांकि, इसी भाषण में उन्होंने ये भी माना कि इन सबके बावजूद भारत की स्थिति काफी मजबूत है।

इमरान खान 2018 में प्रधानमंत्री बने थे और उनके कुर्सी संभालने के बाद पाकिस्तान में महंगाई अब तक सबसे ऊपरी स्तर पर है। एक्सपर्ट्स का मानना है कि सरकार दूसरे देशों से कर्ज लेकर बैंक रिजर्व बढ़ा रही है और इसको मुल्क की बेहतर अर्थव्यवस्था बताती है।

क्या कह रहे हैं पाकिस्तान के वजीर-ए-आजम
इमरान शुक्रवार को पंजाब प्रांत के लोधरान-मुल्तान में एक हाईवे अपग्रेडेशन प्रोग्राम में शिरकत करने पहुंचे। यहां अपने भाषण में इकोनॉमी का जिक्र किया और फिर भारत तक पहुंच गए। कहा- जरा देखिए, भारत ने क्या फैसले किए, और हमने क्या किए। तुलना कीजिए कि हम कैसे उनसे आगे निकल गए। आज भारत की ग्रोथ रेट -7% है और हम 4% की दर से आगे बढ़ रहे हैं। लेकिन, आज भी हम उनके जैसे मजबूत नहीं हैं।
इमरान ने आगे कहा- जब महामारी की शुरआत हुई तो भारत इकोनॉमी के लिहाज से बहुत मजबूत हालात में था। हमने इसी वक्त अपने लोगों और इकोनॉमी दोनों को बचाने पर फोकस किया। अब हमारा मुश्किल वक्त खत्म हो चुका है और मुल्क तरक्की की राह पर है।

अच्छी खबर जल्द देंगे
इमरान ने भाषण में ये भी बताया कि अब उनकी सरकार कई सेक्टर को बेहतर बनाने के एजेंडे पर आगे बढ़ रही है। इसमें एग्रीकल्चर, आईटी और टूरिज्म शामिल हैं। उन्होंने कहा- हमने कभी अपने टूरिज्म सेक्टर को सही इस्तेमाल नहीं किया। अगर आप अपनी तमाम छुट्टियां लंदन में मनाते हैं तो ये कैसे समझ पाएंगे कि हमारे मुल्क में कितनी खूबसूरत जगहें और टूरिस्ट प्लेस हैं। मैं आपसे वादा करता हूं कि देश को एक बहुत बड़ी खुशखबरी जल्द दूंगा।

आलोचना से नाराज
इमरान ने कहा- हम जब सत्ता में आए तो पहले हफ्ते में ही विपक्ष हमसे पूछने लगा कि कहां है नया पाकिस्तान? मीडिया भी पीछे पड़ गया। मैं जानता हूं कि अपोजिशन लीडर्स को मुल्क से बाहर जाने की मंजूरी चाहिए, लेकिन मैं इसकी इजाजत नहीं दूंगा। हमने लगातार परेशानियां झेली हैं और अब भी चैलेंज कम नहीं हैं। मेरी टीम और मेरी कैबिनेट के लिए यह वक्त सीखने का था। बिना स्ट्रगल किए आप कोई चेंज नहीं ला सकते। अब हमको खुलकर काम करना होगा। हमें माफिया से निपटना है।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here