मौके पर पहुंची पुलिस सीमा विवाद में उलझ गई। इस दौरान किशोरी का शव 3 घंटे तक रेलिंग से लटकता रहा।

देवरियाएक घंटा पहले

उत्तर प्रदेश के देवरिया में भतीजी का जींस पहनना चाचा को पसंद नहीं आया। आरोप है कि भतीजी ने जब बात नहीं मानी तो चाचा ने उसे पीट-पीटकर मार डाला। मारपीट में लड़की के बाबा ने भी साथ दिया। इसके बाद वे हत्या को छिपाने के लिए शव फेंकने निकले। रास्ते में एक नदी मिली। पुल से वे उसमें शव फेंक रहे थे, तभी लड़की का पैर रेलिंग में फंस गया। इससे शव नदी में गिरने की बजाए पुल पर ही लटक गया।

यह देख आरोपी चाचा और बाबा घबरा गए और हड़बड़ी में शव को लटका छोड़कर भाग निकले। लड़की की मां की तहरीर पर पुलिस ने चाचा अरविंद और बाबा परमहंस को गिरफ्तार किया है। मामले में 10 लोगों पर मुकदमा दर्ज हुआ है। बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है।

जींस पहनने से रोकने पर हुई बहस
यह मामला दो दिन पुराना है। पुलिस ने हत्या का खुलासा गुरुवार को किया। महुआडीह थाना क्षेत्र के संवरेजी खर्ग में रहने वाले अमरनाथ पासवान पंजाब के लुधियाना में नौकरी करते हैं। मां शकुंतला देवी ने बताया कि 16 साल की बेटी नेहा कुछ दिन पहले लुधियाना से गांव आई थी। वह शहर की तरह यहां भी जींस पहनती थी।

नेहा को उसके चाचा और बाबा ने कई बार ऐसा करने से मना किया और ठीक से कपड़े पहनने के लिए कहा। वह नहीं मानी तो दोनों ने उसे खूब पीटा। सिर दीवार पर लगने से नेहा की मौत हो गई। मारपीट में घर के दूसरे लोगों ने भी साथ दिया।

मां ने यह भी बताया कि बेटी की मौत के बाद वे शव लेकर देवरिया कसया रोड पर पटनवा पुल लेकर पहुंचे। उन्होंने शव को लोहे के पुराने पुल से नदी में फेंकने की कोशिश की। नेहा का एक पैर पुल की रेलिंग में फंस गया और उसका शव लटक गया। इससे वह घबराकर भाग गए।

मौके पर पहुंची पुलिस सीमा विवाद में उलझ गई। इस दौरान किशोरी का शव 3 घंटे तक रेलिंग से लटकता रहा।

मौके पर पहुंची पुलिस सीमा विवाद में उलझ गई। इस दौरान किशोरी का शव 3 घंटे तक रेलिंग से लटकता रहा।

10 के खिलाफ केस, 2 अरेस्ट
महुआडीह के इंस्पेक्टर राम मोहन राम ने बताया कि लड़की की मां शकुंतला देवी ने तहरीर दी है कि जींस और टीशर्ट पहने को लेकर विवाद और मारपीट हुई थी। इसमें नेहा की मौत हो गई। तहरीर पर पुलिस ने अरविंद, व्यास, परमहंस, भगना, गुड्डी, पूजा, पन्ने लाल, राहुल और चालक हसनैन समेत 10 लोगों के खिलाफ हत्या और सबूत छिपाने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। दो लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है।

सीमा विवाद में उलझी रही पुलिस
दो दिन पहले जब पुलिस को यह पता चला था कि रेलिंग से शव लटक रहा है तो कारखाना पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची देखा कि घटनास्थल दूसरे क्षेत्र में पड़ रहा है। जिसके बाद उसने तरकुलहा पुलिस को सूचना दी थी। दो सीमाओं के विवाद में पुलिस वाले उलझ गए थे। इधर, युवती का शव 3 घंटे तक लोहे की रेलिंग से लटकता रहा। बाद में तरकुलहा पुलिस ने शव को नीचे उतारा। उसे कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

खबरें और भी हैं…