पीएम मोदी की चाची का कोरोना से हुआ निधन. (File pic)

पीएम नरेंद्र मोदी बैठक को वर्चुअल रूप से संबोधित करेंगे 
(फाइल फोटो)

पीएम नरेंद्र मोदी बैठक को वर्चुअल रूप से संबोधित करेंगे
(फाइल फोटो)

G7 Summit: भारत जी 7 समूह का हिस्‍सा नहीं है. हालांकि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने पीएम मोदी को इसमें शामिल होने के लिए विशेष तौर पर आमंत्रण भेजा था.

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 11 जून से शुरू हो रहे जी-7 सम्मेलन (G7 Summit) को संबोधित करेंगे. कोविड-19 के प्रकोप के चलते प्रधानमंत्री इस बैठक में वर्चुअल तौर पर ही शामिल होंगे. बैठक में कोरोना वायरस से निपटने को लेकर बैठक में चर्चा होगी. ये सम्मेलन 11 से 13 जून तक ब्रिटेन में आयोजित किया जाएगा. प्रधानमंत्री मोदी कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते ब्रिटेन नहीं जा रहे हैं. ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने पीएम मोदी को बैठक में शामिल होने का न्योता भेजा था. दुनिया के सबसे धनी देशों के समूह कहे जाने वाले जी-7 समूह में ब्रिटेन, अमेरिका, कनाडा, जापान, इटली, फ्रांस और जर्मनी शामिल हैं. भारत जी 7 समूह का हिस्‍सा नहीं है. हालांकि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने पीएम मोदी को इसमें शामिल होने के लिए विशेष तौर पर आमंत्रण भेजा था.

ब्रिटिश प्रधानमंत्री बॉरिस जॉनसन ने ब्रिटेन की विदेश नीति में हिंद प्रशांत क्षेत्र पर विशेष बल देने के तहत मोदी को 11-13 जून के दौरान होने वाली इस बैठक में शामिल होने का न्यौता दिया था. भारत, आस्ट्रेलिया और दक्षिण कोरिया तीन अतिथि देशों में शामिल हैं. अतिथि नेताओं को ग्रुप ऑफ सेवन की बैठक के विशेष सत्रों में हिस्सा लेने के लिए निमंत्रित किया जाएगा. इस सम्मेलन की अध्यक्षता ब्रिटेन करेगा.

ये भी पढ़ें- दिल्ली में 9वीं 11वीं की परीक्षाएं रद्द, रिजल्ट 22 जून ऑनलाइन होगा जारी

जीवन रक्षक कार्रवाई को लेकर सहमति बनाएंगे देशइस बैठक में दुनिया के प्रमुख लोकतांत्रिक देश वैश्विक स्वास्थ्य के महत्वपूर्ण क्षेत्रों में जीवन रक्षक कार्रवाई पर सहमति बनाएंगे. ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय को कोविड-19 के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में उसकी भूमिका के लिए चुना गया है, जिसमें विश्व-अग्रणी क्लीनिकल ट्रायल और कोविड-19 टीके को लेकर एस्ट्राजेनेका के साथ इसकी गैर-लाभकारी साझेदारी शामिल है.

इस बैठक में हिस्सा लेने वाले वैश्विक स्वास्थ्य सुरक्षा, रोगाणुरोधी प्रतिरोध, क्लीनिकल ट्रायल और डिजिटल स्वास्थ्य के मुद्दों को संबोधित करने के लिए एकसाथ आएंगे और चर्चा के बारे में 11 से 13 जून के बीच कॉर्नवाल में जी7 लीडर्स शिखर सम्मेलन को सूचित किया जाएगा.





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here