Dr. Jalil Parkar Said- Dilip Kumar's health is improving, but he is still on oxygen support | डॉ. जलील पारकर ने बताया-दिलीप कुमार की हेल्थ में सुधार हो रहा है, लेकिन अभी भी वे ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं

3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

दिग्गज एक्टर दिलीप कुमार को कुछ दिनों पहले सांस लेने में दिक्कत होने के कारण मुंबई के पीडी हिंदुजा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। अब हाल ही में दिलीप कुमार का इलाज कर रहे पल्मोनोलॉजिस्ट डॉ. जलील पारकर ने उनकी हेल्थ को लेकर अपडेट दिया है। उन्होंने बताया है कि दिलीप कुमार की हेल्थ में सुधार हो रहा है, लेकिन अभी भी वे ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं।

डॉ. जलील पारकर ने कहा, “दिलीप कुमार की हेल्थ में सुधार हो रहा है और उनकी सांस फूलने की समस्या भी कम हो गई है। लेकिन वे अभी भी ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं।” इससे पहले रविवार को डॉ पारकर ने कहा था, दिलीप कुमार की हालत अब स्थिर है। भले ही वे आईसीयू में हैं, लेकिन वेंटिलेटर पर नहीं हैं। हम अपनी पूरी कोशिश कर रहे हैं कि वे जल्द से जल्द ठीक हो जाएं और घर वापस लौटें।”

दिलीप कुमार के फेफड़ों में भर गया है पानी
वहीं दैनिक भास्कर से बातचीत में अस्पताल के डॉ. जलील पारकर ने कहा था, “उनके फेफड़ों में कुछ पानी जमा हो गया है। इसलिए उन्हें भर्ती किया गया है। उनका ऑक्सीजन लेवल फ्लक्चुएट हो रहा है। जब पारकर से पूछा गया था कि क्या सबकुछ कंट्रोल में है तो उन्होंने कहा था, “अभी तो सब ठीक है। लेकिन उम्र को देखते हुए आप ज्यादा कुछ नहीं कह सकते। उनका कोविड टेस्ट करने की जरूरत नहीं पड़ी। फेफड़ों में पानी भरना उम्र संबंधी दिक्कत है। फिलहाल यह नहीं कहा जा सकता कि उन्हें कब तक अस्पताल में रखना पड़ेगा।”

बता दें कि, 98 साल के दिलीप कुमार को बाइलेटरल प्ल्यूरल इफ्यूजन हुआ था। इस बीमारी में छाती के अन्दर फेफड़े के चारों ओर पानी का जमाव हो जाता है, जिसे मेडिकल भाषा में ‘प्ल्यूरल इफ्यूजन’ कहते हैं। छाती में बार-बार पानी का जमाव होने से फेफड़े पर दबाव की वजह से सांस फूलने लगती हैं।

अस्पताल से दिलीप कुमार की पहली फोटो आई थी सामने
दिलीप कुमार के सोशल मीडिया हैंडल से सोमवार शाम को अस्पताल से उनकी पहली फोटो शेयर की गई थी। इस फोटो में दिलीप कुमार बिना ऑक्सीजन सपोर्ट के बैठै दिखाई दे रहे हैं। जिससे यह पत चलता है कि उनकी सेहत पहले से बेहतर है। वहीं उनकी पत्नी शायरा बानो फोटो में उनका हाथ थामे बैठे दिखाई दे रही हैं। हालांकि, हॉस्पिटल में होने के बावजूद 76 साल की सायरा ने मास्क नहीं पहना था। इस फोटो के साथ ही यह जानकारी दी गई है कि यह फोटो 7 जून को शाम को 5:51 पर क्लिक की गई थी।

पिछले महीने भी अस्पताल में हुए थे भर्ती
पिछले महीने भी दिलीप साहब इसी हॉस्पिटल में भर्ती हुए थे। तब भी यही कहा जा रहा था कि उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही है और उस वक्त भी सायरा बानो ने आधिकारिक स्टेटमेंट जारी कर कहा था कि वे रुटीन चैकअप के लिए अस्पताल में एडमिट हुए थे। सभी चैकअप के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया था।

पद्मभूषण, दादा साहब अवॉर्ड से हुए थे सम्मानित
दिलीप कुमार का असली नाम मोहम्मद यूसुफ खान है। उन्होंने ‘ज्वार भाटा’ (1944), ‘अंदाज’ (1949), ‘आन’ (1952), ‘देवदास’ (1955), ‘आजाद’ (1955), ‘मुगल-ए-आजम’ (1960), ‘गंगा जमुना’ (1961), ‘क्रान्ति’ (1981), ‘कर्मा’ (1986) और ‘सौदागर’ (1991) समेत 50 से ज्यादा बॉलीवुड फिल्मों में काम किया है। बेहतरीन अदाकारी के लिए उन्हें 8 बार बेस्ट एक्टर के तौर पर फिल्मफेयर अवॉर्ड मिला। हिंदी सिनेमा के सबसे बड़े सम्मान दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड से भी उन्हें सम्मानित किया जा चुका है। 2015 में सरकार ने उन्हें देश का दूसरा सबसे बड़ा सम्मान पद्म भूषण भी दिया था।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here