BSE NSE Sensex Today, Stock Market Latest Update: July 15 Share Market, Trade BSE, Nifty, Sensex Live News Updates | 53,159 के उच्चतम स्तर पर बंद हुआ सेंसेक्स, पहली बार 15,900 अंक से ऊपर रहा निफ्टी

  • Hindi News
  • Business
  • Economy
  • BSE NSE Sensex Today, Stock Market Latest Update: July 15 Share Market, Trade BSE, Nifty, Sensex Live News Updates

11 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

वायदा बाजार में साप्ताहिक सेटलमेंट के दिन गुरुवार को शेयर बाजार में ऑल टाइम हाई के नए रिकॉर्ड बने। बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 53,266.12 जबकि एनएसई का 50 शेयरों वाला निफ्टी 15,952.35 के उच्चतम स्तर पर गया।

SBE सेंसेक्स

SBE सेंसेक्स

दोनों अहम स्टॉक इंडेक्स की क्लोजिंग भी ऑल टाइम हाई पर रही है। कारोबार के अंत में निफ्टी 66.45 पॉइंट (0.42%) के उछाल के साथ 15,920.40 पर रहा। इसी तरह सेंसेक्स 254.80 पॉइंट (0.48%) की मजबूती के साथ 53,158.85 पर बंद हुआ।

BSE सेंसेक्स

BSE सेंसेक्स

निफ्टी ने 13 दिन बाद पुराने हाई 15,915 को पार कर 15,952 का नया ऑल टाइम हाई बनाया, जबकि सेंसेक्स ने फिर 53,000 का स्तर पार कर लिया। विदेशी बाजार के अनुकूल माहौल, देश में कोरोना की दूसरी लहर खत्म होने के कयास से टेक्नोलॉजी कंपनियों, रियल एस्टेट और सीमेंट स्टॉक्स में खरीदारी निकली। जिस हिसाब से निफ्टी ने कंसोलिडेशन से ब्रेकआउट दिया है, आने वाले दिनों में वह 16,200 और 16,500 का लेवल भी छूता नजर आ सकता है।

तेजड़ियों की खरीदारी से बाजार अधिकांश समय ऊपरी लेवल पर बना रहा। दोपहर बाद के सत्र में बाजार सीमित दायरे में रहा। इसमें पिछले चार सेशन से हायर हाई और हायर लो का पैटर्न बन रहा है। वायदा बाजार के सौदे पहले निफ्टी के 15,700 से 16,000 के दायरे में रहने के संकेत दे रहे हैं। उसके बाद निफ्टी 16,000 से 16,200 के दायरे में रह सकता है।

अगर निफ्टी 15,900 पॉइंट से ऊपर बना रहता है, तो तेजी में 16,000 की तरफ बढ़ता नजर आ सकता है। इसके ऊपर जाने पर 16,200 तक जा सकता है जबकि गिरावट आने की सूरत में पहले 15,800 पर सपोर्ट पाएगा। उससे नीचे 15,750 पर खरीदारी निकलेगी।

NSE निफ्टी

NSE निफ्टी

शेयरों में LTI, अंबुजा सीमेंट, DLF, UPL, ACC, कमिंस इंडिया, टोरंट पावर, वोल्टास, अल्ट्राटेक सीमेंट में मजबूती जबकि गेल, RBL बैंक, UBL, आयशर मोटर, M&M फिनसर्व, हिंदुस्तान पेट्रोलियम और केनरा बैंक में कमजोरी रही।

लार्ज कैप शेयरों के अलावा छोटे और मझोले शेयरों में भी जमकर खरीदारी हुई। निफ्टी का मिड कैप इंडेक्स 27,770 पॉइंट जबकि स्मॉल कैप इंडेक्स 10,364 के सर्वोच्च स्तर पर गया। मिड कैप इंडेक्स 0.49% जबकि स्मॉल कैप 0.99% उछाल के साथ बंद हुआ।

सेंसेक्स में इस साल 11.5% की मजबूती आई है, जबकि एक साल में इसने 47.50% का रिटर्न दिया है। निफ्टी ने जनवरी से अब तक 14% का रिटर्न दिया है जबकि एक साल में यह 50% उछला है। मिड कैप इंडेक्स इस साल 33% और एक साल में 85% मजबूत हुआ है। स्मॉल कैप ने एक साल में 115% और इस साल 46% का रिटर्न दिया है।

बाजार को HCL टेक, L&T, टेक महिंद्रा, HDFC बैंक, ITC, विप्रो, हिंडाल्को जैसे इंडेक्स शेयरों में खरीदारी का सपोर्ट मिला। इस पर दबाव बनाने वाले शेयरों में ONGC, M&M, कोल इंडिया, भारती एयरटेल, आयशर मोटर शामिल रहे।

बाजार को रियल्टी, IT और बैंक इंडेक्स में मजबूती का सपोर्ट मिला। निफ्टी IT में 4.20% का उछाल आया। एनर्जी, ऑटो और मीडिया इंडेक्स में अच्छी-खासी कमजोरी रही। निफ्टी के 50 शेयरों में से 26 जबकि सेंसेक्स के 30 शेयरों में से 17 में उछाल आया।

शेयर बाजार ने गुरुवार को ठीक-ठाक शुरुआत दी थी। सेंसेक्स 64 पॉइंट की मजबूती के साथ 52,968 पर खुला था। निफ्टी ने 15,872 पर खुलकर 20 पॉइंट की मजबूत शुरुआत दी थी।

वोलैटिलिटी इंडेक्स इंडिया VIX में 2.54% की गिरावट आई। इसमें गिरावट बताती है कि अगले 30 दिनों में निफ्टी सालाना आधार पर कितना चढ़ सकता है। इंडिया VIX में निचले स्तरों से बढ़ोतरी होना, बाजार में मजबूती कायम रहने के साथ हलचल बढ़ने का संकेत होता है।

जोमैटो के लिए रिटेल इनवेस्टर ने दिए 3.5 गुना एप्लिकेशन

जोमैटो के IPO को दूसरे दिन दोपहर 12 बजे तक कुल 1.21 गुना का सब्सक्रिप्शन मिला है। सबसे ज्यादा एप्लिकेशन रिटेल इनवेस्टर्स की तरफ से आए हैं। इस कैटेगरी के लिए जितने शेयर रिजर्व हैं, उनके लिए लगभग 3.5 गुना एप्लिकेशन आ चुके हैं। एक रिटेल इनवेस्टर दो लाख रुपए तक के शेयरों के लिए अप्लाई कर सकता है।

इन्फोसिस के लिए 1,920 रुपए का टारगेट

बुधवार की शाम को इन्फोसिस के पहली तिमाही के नतीजे आए थे। इस दिग्गज IT कंपनी के शेयरों को 1,920 रुपए के टारगेट के साथ खरीदा जा सकता है। यह सलाह रिलायंस सिक्योरिटीज ने दी है। कंपनी का शेयर आज कारोबार के दौरान 52 वीक हाई 1,596.85 रुपए पर गया है।

ब्रोकरेज फर्म के सीनियर रिसर्च एनालिस्ट सुयोग कुलकर्णी के मुताबिक कंपनी ने रेवेन्यू ग्रोथ गाइडेंस बढ़ाकर 14-16% कर दी है। इसमें FY24 के अनुमानित प्रति शेयर आय (EPS) के 22 गुना पर ट्रेड हो रहा है, जो TCS से 5% कम है। डबल डिजिट ग्रोथ, डिजिटल बिजनेस के शेयरों में बढ़ोतरी को देखते हुए इसकी रीरेटिंग हो सकती है।

एशियाई बाजारों में मजबूती

एशिया के बाजारों में कमोबेश मजबूती रही। हांगकांग के हैंगसेंग में 0.83% की तेजी रही। चीन के शंघाई कंपोजिट में 1.02% का उछाल आया। कोरिया का कोस्पी 0.66% की बढ़त के साथ बंद हुआ। जापान के निक्केई में 1.21% की कमजोरी रही। ऑस्ट्रेलिया के ऑल ऑर्डनरी में लगभग 0.20% की गिरावट आई।

अमेरिका और यूरोप में मिला-जुला रुझान

बुधवार को अमेरिकी बाजारों में मिला-जुला रुझान रहा था। डाऊ जोंस 0.13% की मजबूती के साथ बंद हुआ। नैस्डैक में 0.22% की गिरावट आई। S&P 500 में 0.12% की तेजी रही। गुरुवार को यूरोप में गिरावट का रुझान है। ब्रिटेन के FTSE में लगभग 0.60% की गिरावट आई है। फ्रांस का CAC इंडेक्स 0.70% कमजोरी के साथ बंद हुआ है। जर्मनी के DAX में 0.90% की कमजोरी रही।

FII और DII डेटा

NSE पर मौजूद प्रोविजनल डेटा के मुताबिक, गुरुवार 15 जुलाई को विदेशी संस्थागत निवेशकों (FII) ने शुद्ध रूप से 264.77 करोड़ रुपए के शेयर बेचे। यानी जितने रुपए के शेयर खरीदे, उससे इतने ज्यादा रुपए के शेयर बेच दिए। घरेलू संस्थागत निवेशकों (DII) ने कल शुद्ध रूप से 439.41 करोड़ रुपए के शेयर खरीदे थे।

खबरें और भी हैं…