पश्चिम बंगाल के भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक करने आए थे, लेकिन भाजपा समर्थक और कार्यकर्ताओं ने उन्हें घेर लिया। - Dainik Bhaskar

  • Hindi News
  • National
  • BJP Workers Protest In West Bengal With Dilip Ghosh And Locket Chatterjee

हुगली3 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
पश्चिम बंगाल के भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक करने आए थे, लेकिन भाजपा समर्थक और कार्यकर्ताओं ने उन्हें घेर लिया। - Dainik Bhaskar

पश्चिम बंगाल के भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक करने आए थे, लेकिन भाजपा समर्थक और कार्यकर्ताओं ने उन्हें घेर लिया।

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव हारने के बाद से ही भारतीय जनता पार्टी स्ट्रगल करती नजर आ रही है। इस बार पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ही अपने कार्यकर्ताओं के बीच घिर गए। घटना हुगली जिले के चूचूरा में जिला भाजपा ऑफिस की है। यहां दिलीप घोष पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक करने आए थे, लेकिन भाजपा समर्थक और कार्यकर्ताओं ने उन्हें घेर लिया।

दरअसल, विरोध जता रहे भाजपा के बूथ स्तर के नेता जल्द से जल्द हुगली जिला कमेटी को भंग किए जाने और हुगली सांगठनिक जिला भाजपा के अध्यक्ष गौतम चटर्जी को हटाए जाने की मांग कर रहे थे।

तृणमूल समर्थकों ने भाजपा समर्थकों में घुसकर हंगामा किया
इस मामले में हुगली की सांसद और प्रदेश भाजपा महासचिव लॉकेट चैटर्जी ने कहा पार्टी के कर्मी और समर्थक नेताओं से अपनी शिकायतें करने के लिए पूरी तरह स्वतंत्र हैं। साथ ही उन्होंने बूथ स्तर के नेताओं और कर्मियों को याद दिलाया कि अनुशासन पर पार्टी कोई समझौता नहीं करेगी। लॉकेट चैटर्जी ने इस हंगामे का ठीकरा सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस पर फोड़ते हुए आरोप लगाया कि तृणमूल के लोगों ने ही भाजपा समर्थकों की भीड़ में घुसकर सबसे ज्यादा हंगामा किया है।

भाजपा में अंदरूनी कलह जगजाहिर है: तृणमूल
वहीं, लॉकेट चैटर्जी के आरोपों को सिरे से खारिज करते हुए हुगली से तृणमूल जिला अध्यक्ष ने कहा कि हम पर आरोप लगाने से पहले भाजपा को अपने गिरेबान में झांक लेना चाहिए। उन्हें पहले अपने घर संभाल लेना चाहिए, तब दूसरों पर आरोप लगाएं। तृणमूल जिला अध्यक्ष ने कहा कि विधानसभा चुनाव में टिकट बंटवारे से लेकर हार तक भाजपा में अंदरूनी कलह चलती रही, जो जगजाहिर है। इस पर पर्दा डालने के लिए भाजपा नेता और नेतृत्व राजनीतिक हिंसा का झूठा राग अलाप रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here