Banking ; SBI ; Saving Account ; If you are planning to open a savings account, keep these 5 things in mind including interest rate | सेविंग्स अकाउंट खुलवाने का बना रहे हैं प्लान तो ब्याज दर सहित इन 5 बातों का रखें ध्यान

  • Hindi News
  • Business
  • Banking ; SBI ; Saving Account ; If You Are Planning To Open A Savings Account, Keep These 5 Things In Mind Including Interest Rate

नई दिल्ली13 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

इन दिनों अगर आप सेविंग अकाउंट खुलवाने का प्लान बना रहे हैं तो सबसे पहले आपको इस बात का पता होना चाहिए कि आप जिस बैंक में अकाउंट खुलवा रहे हैं वो सेविंग अकाउंट पर कितना ब्याज दे रहा है। कई लोग सेविंग अकाउंट पर मिलने वाली ब्याज दर और सेविंग्स अकाउंट पर लगने वाले चार्जेस को जाने बिना ही किसी भी बैंक में अपना खाता खुलवा लेते हैं। हम आपको बता रहे हैं कि सेविंग अकाउंट खुलवाने से पहले इन 5 बातों का ध्यान रखना चाहिए।

मंथली एवरेज बैलेंस का रखें ध्यान
मंथली एवरेज बैलेंस यानी वो अमाउंट जिसे आपको अपने अकाउंट में रखना जरूरी है। अलग-अलग बैंकों में ये अकाउंट कम और ज्यादा हो सकता है। ऐसे में खाता खुलवाते वक्त आप इस बात ध्यान रखें कि मिनिमम बैलेंस जितना हो सके उतना कम हो वरना आप को पेनाल्टी भरना पड़ सकता है। मंथली एवरेज बैलेंस अर्बन और सेमी अर्बन के हिसाब से अलग-अलग होते हैं।

कितना मिल रहा ब्याज
किसी भी बैंक में सेविंग्स अकाउंट खोलते समय आप इस बात का जरूर ध्यान रखें कि वो बैंक आपको सेविंग्स खाते पर कितना इंटरेस्ट दे रहा है। अलग-अलग बैंक आपको अलग रेट देते हैं, ऐसे में आप हर बैंक के बारे में जानकारी लें और उसमें अपना खाता खुलवाएं। सेविंग्स अकाउंट पर कौन-सा बैंक कितना ब्याज दे रहा ये जानने के लिए यहां क्लिक करें

ऑनलाइन बैंकिंग और ऐप की सर्विस
हर बैंक आपको ऑनलाइन बैंकिंग और ऐप की सुविधा देता है। मगर ऐसे में किस बैंक की ऑनलाइन बैंकिंग ज्यादा सरल और सिक्योर हो आप उसी में अपना खाता खुलवाएं। इसी तरह आप ये भी देखें कि बैंक ऐप जितना हो सके उतना लाइट हो वर्ना आपको इसे यूज करने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

ज्यादा ब्याज के लिए खुलवा सकते हैं सेविंग प्लस अकाउंट
SBI सहित देश के कई बड़े बैंक ग्राहकों को कई तरह के अकाउंट खोलने की सुविधा देते हैं, इन्ही में से एक है एसबीआई का सेविंग्स प्लस अकाउंट। यह अकाउंट्स मल्टी ऑप्शन डिपॉजिट से लिंक होते हैं। इसमें सरप्लस अमाउंट एक तय सीमा से अधिक होने पर खुद-ब-खुद फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी) में ट्रांसफर हो जाता है। इसमें आम सेविंग अकाउंट की तुलना में आप ज्यादा ब्याज पा सकते हैं।

चार्जेस का भी रखें ध्यान
बैंक आपसे बैलेंस का मैसेज भेजने, ATM से पैसे निकालने, चेक बुक लेने और बैंक जाकर पैसे निकालने या जमा करने पर भी कुछ शुल्क वसूलते हैं। ऐसे में सेविंग अकाउंट खुलवाने से पहले इस तरह के चार्जेस के बारे में भी पता कर लें।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here