मंत्रालय ने कहा कि 2020 में पैदा होने वाले बच्चों की संख्या गिरकर 8,40,832 पर आ गई। यह 2019 के मुकाबले 2.8% कम है। - Dainik Bhaskar

टोक्यो21 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
मंत्रालय ने कहा कि 2020 में पैदा होने वाले बच्चों की संख्या गिरकर 8,40,832 पर आ गई। यह 2019 के मुकाबले 2.8% कम है। - Dainik Bhaskar

मंत्रालय ने कहा कि 2020 में पैदा होने वाले बच्चों की संख्या गिरकर 8,40,832 पर आ गई। यह 2019 के मुकाबले 2.8% कम है।

  • 2065 तक जापान की आबादी 8.8 करोड़ रह जाएगी

कोरोना संकट ने दुनियाभर में जन्म दर को प्रभावित किया है। जबकि शुरू में ये अटकले थीं कि लॉकडाडन के कारण जन्म दर बढ़ सकती है। जापान में 2020 में जन्म दर रिकॉर्ड स्तर पर गिर गई। जापान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में कोरोना संकट का असर अलग-अलग रूपों में सामने आ रहा है।

महामारी के कारण कई लोगों ने शादियां टाल दीं। मंत्रालय ने कहा कि 2020 में पैदा होने वाले बच्चों की संख्या गिरकर 8,40,832 पर आ गई। यह 2019 के मुकाबले 2.8% कम है। यह आंकड़ा 1899 के बाद भी सबसे कम है। जापान में 121 साल बाद जन्म दर को लेकर ऐसी स्थिति बनी है।

मंत्रालय ने कहा कि जापान में रजिस्टर्ड शादियों की संख्या 2020 में 12.3% गिरकर 5,25,490 रह गई। जबकि पहले युद्ध के दौरान ही जापान में शादियां कम होती थीं। 2020 में जापान में प्रजनन दर घटकर 1.34 हो गई। यह दुनिया में सबसे कम है। जापान में बुजुर्गों की आबादी ज्यादा है।

युवाओं की संख्या कम होने के कारण कार्यबल सिकुड़ रहा है। जापान को ‘सुपर-एज्ड’ देश कहा जाता है। इसका मतलब है कि जापान की 20% से अधिक आबादी 65 साल से अधिक उम्र की है। देश की कुल आबादी 2018 में 12.40 करोड़ थी। विशेषज्ञों का कहना है कि 2065 तक आबादी घटकर करीब 8.8 करोड़ हो सकती है।

दूसरी ओर, चीन में रजिस्टर्ड नवजात शिशुओं की संख्या में 15% की गिरावट आई है। चीन सरकार ने पिछले हफ्ते घोषणा की थी कि वह अपनी सख्त परिवार नियोजन नीति को और आसान बनाएगी। इसके तहत दंपती तीन बच्चों को जन्म दे सकते हैं।

दक्षिण कोरिया में पहली बार जन्म से ज्यादा मौतें

जापान का पड़ोसी देश दक्षिण कोरिया भी कई साल से कम जन्म दर से जूझ रहा है। साल 2020 में इसने पहली बार जन्म से अधिक मौतों की सूचना दी थी। सांख्यिकी विज्ञान में इस स्थिति को ‘पॉपुलेशन डेथ क्रॉस’ के नाम से जाना जाता है। इसका अर्थ है कि कुल आबादी सिकुड़ गई है।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here