मेहुल चोकसी को लेकर डॉमिनिका की अदालत में  आज सुनवाई होगी.

चोकसी के वकील पोलक ने आरोप लगाया कि चोकसी के अपहरण में शामिल लोगों ने अप्रैल में ड्राई रन किया था. (फाइल फोटो)

चोकसी के वकील पोलक ने आरोप लगाया कि चोकसी के अपहरण में शामिल लोगों ने अप्रैल में ड्राई रन किया था. (फाइल फोटो)

Mehul Choksi के वकील पोलक ने कहा कि उन्होंने इस मामले में पूरा रिसर्च किया है. लेकिन, अचानक से बोलना बंद कर कहा कि इसके लिए भारतीय एजेंसियां जिम्मेदार हैं.

नई दिल्ली. भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी ने अपनी कानूनी टीम के मार्फत एंटीगुआ और बारबुडा से पड़ोसी डोमिनिका में उसके कथित अपहरण की जांच के लिए “सार्वभौमिक अधिकार क्षेत्र” प्रावधान के तहत मेट्रोपोलिटन पुलिस से संपर्क किया है. चोकसी के वकील पोलक ने कहा कि मेहुल को एक नागरिक के रूप में अपनी नागरिकता और प्रत्यर्पण के मामलों में ब्रिटिश प्रिवी काउंसिल से संपर्क करने का अधिकार प्राप्त है. लेकिन, उन्हें एंटीगुआ और बारबुडा से हटाया गया और वहां ले जाया गया, जहां ये अधिकार उन्हें प्राप्त नहीं हैं. उन्होंने कहा कि ब्रिटेन की अदालत और पुलिस के पास ऐसे मामलों की जांच करने का अधिकार है, जिस भी जगह पर वे घटित होते हैं.

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मीडिया को संबोधित करते हुए चोकसी की डिफेंस टीम के पोलक ने कहा कि मेट्रोपोलिटन पुलिस के पास टॉर्चर, युद्ध अपराध और नरसंहार जैसे मामले की जांच करने का अधिकार है, जहां वे होते हैं. पोलक ने कहा, “मेट्रोपोलिटन पुलिस ने कहा है कि वह एक जांचकर्ता को मामले का पता लगाने के लिए भेजेगी कि आखिर हुआ क्या था.” उन्होंने कहा, “ये प्रक्रिया अब मेट्रोपोलिटन पुलिस के पास है और हम उन्हें जांच करने देंगे. हम कहना चाहते हैं कि इस मामले टॉर्चर के सबूत हैं.” पोलक ने कहा कि उन्होंने इस मामले में पूरा रिसर्च किया है कि किस तरह मेहुल चोकसी को अगवा किया गया, लेकिन पोलक ने अचानक से बोलना बंद कर दिया और कहा कि इसके लिए भारतीय एजेंसियां जिम्मेदार हैं.

उन्होंने कहा, “इस मामले में मकसद साफ है. ये बहुत महत्वपूर्ण चीज है, जिस पर गौर किया जाना चाहिए. सच ये है कि भारत चोकसी का प्रत्यर्पण चाहता है. लेकिन, क्या चोकसी ने ऐसे किसी कागज पर हस्ताक्षर किए हैं कि वह पहले भी वहां था. सच बात तो ये है कि मेहुल चोकसी के अपहरण के तुरंत बाद डोमिनिका में एक भारतीय प्लेन मौजूद था. ये दिखाता है कि वहां क्या चल रहा था.”

पोलक ने आरोप लगाया कि चोकसी के अपहरण में शामिल लोगों ने अप्रैल में ड्राई रन किया था. अपहरण के मामले की जानकारी देते हुए पोलक ने कहा, “23 मई को अपने एयरबीएनबी आवास में चोकसी को बुलाने वाली बारबरा जबरीका ने मकान मालिक से खासतौर पर पूछा था कि क्या मकान परिसर के पिछवाड़े में एक छोटी नाव को रखने का इंतजाम है कि नहीं.” जबरीका और मकान के मालिक के बीच व्हाट्स ऐप चैट को दिखाते हुए पोलक ने कहा कि बारबरा ने मकान परिसर के पीछे छोटी नौका को रखने की जगह मिलने के बाद एक साथ सटे दो मकान किराए पर लिए.पोलक ने आरोप लगाया कि एक प्रॉपर्टी में बारबरा के साथ अपहरण में शामिल हुए लोग रूके हुए थे. वकील ने दावा कि अपहरण के तत्काल बाद जबरीका रात के 7.26 बजे प्राइवेट प्लेन से डोमिनिका पहुंच गई. पोलक ने अपनी शिकायत में जबरीका के अलावा गुरदीप बाथ, गुरजीत सिंह भंडाल और गुरमीत सिंह पर भी आरोप लगाया है.

बाथ और भंडाल क्रमशः सेंट किट्स और ब्रिटेन के नागरिक हैं, वहीं गुरमीत सिंह ब्रिटेन में रह रहे भारतीय नागरिक हैं.





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here