ऑली रॉबिनसन के पक्ष में क्यों बोले ब्रिटिश खेल मंत्री? (PC-AFP)

ऑली रॉबिनसन के पक्ष में क्यों बोले ब्रिटिश खेल मंत्री? (PC-AFP)

ऑली रॉबिनसन के पक्ष में क्यों बोले ब्रिटिश खेल मंत्री? (PC-AFP)

ब्रिटेन के खेल मंत्री ओलिवर डाउडेन (Oliver Dowden) ने ईसीबी पर आरोप लगाया कि बोर्ड ने ऑली रॉबिनसन (Ollie Robinson) मामले में कुछ ज्यादा ही सख्त रुख अख्तियार किया है. खेल मंत्री ने ईसीबी को अपने फैसले पर विचार करने के लिए कहा.

नई दिल्ली. हर क्रिकेटर का सपना होता है कि वो अपने पहले ही टेस्ट मैच में बेहतरीन प्रदर्शन करे और दुनिया उसे पहचान जाए. इंग्लैंड के तेज गेंदबाज ऑली रॉबिनसन (Ollie Robinson) ने भी कुछ ऐसा ही किया. उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में डेब्यू करते हुए कुल 7 विकेट चटकाए लेकिन मैच खत्म होते ही उन्हें इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने इंटरनेशनल क्रिकेट से ही सस्पेंड कर दिया. दरअसल लॉर्ड्स टेस्ट के दौरान ऑली रॉबिनसन के कुछ नस्लीय पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे जो उन्होंने लगभग 8 साल पहले किए थे. हालांकि उनके पुराने पोस्ट की ईसीबी ने जांच की और उन्हें इंग्लैंड क्रिकेट टीम से बाहर कर दिया गया. रॉबिनसन को सस्पेंड करने के मामले पर अब ब्रिटेन के खेल मंत्री ने भी अपना विचार व्यक्त किया है और वो इस खिलाड़ी के साथ खड़े नजर आ रहे हैं.

ब्रिटिश खेल मंत्री ओलिवर डाउडेन ((Oliver Dowden)) ने ईसीबी पर आरोप लगाया है कि रॉबिनसन के मामले में बोर्ड ने कुछ ज्यादा ही कड़ा रुख अख्तियार किया है. साथ ही खेल मंत्री ने ट्वीट करते हुए ये भी लिखा कि रॉबिनसन ने जब ये नस्लीय पोस्ट किये थे तो उस वक्त वो छोटे थे और आज वो एक बेहतर और सुलझे हुए इंसान हैं.

ऑली रॉबिनसन के साथ खेल मंत्री

रॉबिनसन के समर्थन में खेल मंत्री ने ट्वीट किया, ‘ऑली रॉबिनसन के ट्वीट गलत थे. लेकिन ये दशक पुराने और एक किशोर द्वारा लिखे गए हैं. वो किशोर आज एक पुरुष बन गया है और उसने माफी भी मांगी है. ईसीबी ने उसे सस्पेंड कर कुछ ज्यादा ही कड़ा फैसला ले लिया, उन्हें इस पर दोबारा विचार करना चाहिए.’

रॉबिनसन के समर्थन में ब्रिटिश खेल मंत्री

आकाश चोपड़ा ने क्रिकेट के 10 नियमों को बदलने की बात कही, बताया-किस शॉट पर मिलें 8 रन?

बता दें लॉर्ड्स टेस्ट का पहला दिन समाप्त होते ही रॉबिनसन ने अपनी गलती स्वीकार की थी लेकिन इसके बावजूद ईसीबी ने उन्हें टेस्ट खत्म होते ही सस्पेंड कर दिया. बता दें मैच खत्म होने के बाद जो रूट ने भी कहा था कि इस तरह के विचार खेल में स्वीकार्य नहीं हैं.





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here