व्यापारियों ने ऑड-ईवन सिस्टम के तहत खुलने वाले बाजारों के फैसले पर नाराजगी जताई है और इसे अव्यवहारिक बताया है.

व्यापारियों ने ऑड-ईवन सिस्टम के तहत खुलने वाले बाजारों के फैसले पर नाराजगी जताई है और इसे अव्यवहारिक बताया है.

व्यापारियों ने ऑड-ईवन सिस्टम के तहत खुलने वाले बाजारों के फैसले पर नाराजगी जताई है और इसे अव्यवहारिक बताया है.

Delhi Unlock-2 Formula: व्यापारियों ने सरकार से आग्रह किया कि स्थिति को बेहतर बनाने के लिए सरकारी ऐजेंसियों तथा मार्केट ऐसोसिएशंस को मिलाकर समन्वय समितियां बनाई जाएं. बाजारों में क्या प्रतिबंध लगाने हैं, ये निर्णय उन समितियों पर छोड़ दिया जाए. इससे कोविड नियमों का बेहतर पालन हो सकेगा और व्यापार का भी नुकसान नहीं होगा.

नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना (Corona) के मामले अब तेजी से कम आ रहे हैं. दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने 7 जून से अनलॉक टू (Unlock-2) के तहत बाजारों को ऑड-ईवन (Odd-Even) के तहत खोलने की घोषणा की है. लॉकडाउन में इसकी छूट देने के निर्णय को समस्त व्यापारियों ने स्वागत योग्य बताया है. लेकिन ऑड-ईवन सिस्टम के तहत खुलने वाले बाजारो के फैसले पर नाराजगी जताई है और इसको अव्यवहारिक बताया है.

फेडरेशन ऑफ सदर बाजार के वाइस चेयरमैन परमजीत सिंह पम्मा ने कहा कि दिल्ली के अधिकतर व्यापारी ऑड-ईवन के नियम के विरोध में हैं. ऑड-ईवन के नियम को लागू करने से सिर्फ असमंजस की स्थिति पैदा होती है और अव्यवस्था फैलती है. पिछले वर्ष भी जब लॉकडाउन खोलने की प्रक्रिया के दौरान ऑड-ईवन लागू किया गया तो वो पूर्णतया विफल रहा था.

सरकार से आग्रह किया कि स्थिति को बेहतर बनाने के लिए सरकारी ऐजेंसियों तथा मार्केट ऐसोसिएशंस  को मिलाकर समन्वय समितियां बनाई जाएं और बाजारों में क्या प्रतिबंध लगाने हैं, ये निर्णय उन समितियों पर छोड़ दिया जाए. इससे कोविड नियमों का बेहतर पालन हो सकेगा और व्यापार का भी नुकसान नहीं होगा.

पम्मा ने कहा बाजार को खोलने से जहाँ अर्थव्यवस्था पटरी पर आयेगी. वहीं, व्यापारी वर्ग को भी बड़ी राहत मिलेगी. इसलिए मुख्यमंत्री को इस पर पुनर्विचार करना चाहिए.





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here