जेसन होल्डर ने एक बार फिर से नस्लवाद को लेकर आवाज उठाई है. (Jason Holder Instagram)

जेसन होल्डर ने एक बार फिर से नस्लवाद को लेकर आवाज उठाई है. (Jason Holder Instagram)

जेसन होल्डर ने एक बार फिर से नस्लवाद को लेकर आवाज उठाई है. (Jason Holder Instagram)

होल्डर ने कहा,”मैंने इसको लेकर कुछ चर्चा की थी और मुझे लगता है कि कुछ लोगों को लगता है कि मैचों से पहले की जाने वाली यह अप्रभावी क्रिया है. मैं इस आंदोलन में नयी जान फूंकने के लिए कुछ नयी पहल देखना चाहता हूं.”

नई दिल्ली. वेस्टइंडीज के आलराउंडर जैसन होल्डर (Jason Holder) का मानना है कि क्रिकेट में नस्लवाद विरोधी आंदोलन मैचों से पहले एक घुटने के बल पर बैठकर सांकेतिक समर्थन तक ही सीमित नहीं रहना चाहिए और इसके कुछ मायने होने चाहिए. अमेरिका में अफ्रीकी मूल के जॉर्ज फ्लायड की एक श्वेत पुलिस अधिकारी के हाथों मौत के बाद ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ (अश्वेतों का जीवन मायने रखता है) आंदोलन शुरू हुआ था. वेस्टइंडीज उन पहली दो अंतरराष्ट्रीय टीमों में शामिल था, जिसके खिलाड़ियों ने एक घुटने के बल पर बैठकर इसका समर्थन किया था.

ईएसपीएनक्रिकइन्फो के अनुसार होल्डर ने कहा,”मैंने इसको लेकर कुछ चर्चा की थी और मुझे लगता है कि कुछ लोगों को लगता है कि मैचों से पहले की जाने वाली यह अप्रभावी क्रिया है. मैं इस आंदोलन में नयी जान फूंकने के लिए कुछ नयी पहल देखना चाहता हूं.”

विराट की वामिका और डिविलियर्स की बेटी येंते की तस्वीर वायरल? अनुष्का शर्मा ने भी किया रिएक्ट

उन्होंने कहा, ” मैं नहीं चाहता था कि लोग केवल यह सोचें कि वे ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ के लिए घुटने टेक रहे हैं, क्योंकि यही परंपरा है, यही चलन है. इसका कुछ अर्थ होना चाहिए.” वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज से पहले खिलाड़ियों से नस्लवाद विरोधी आंदोलन को आगे बढ़ाने के ​लिए और अधिक प्रयास करने का आग्रह भी किया.वहीं, वेस्टइंडीज के दि​ग्गज माइकल होल्डिंग (Michael Holding) ने इंग्लैंड के क्रिकेटर ओली रॉबिनसन (Ollie Robinson) का किशोरावस्था में किए गए नस्लीय ट्वीट (Racist Tweets) के लिए निलंबन को सही करार दिया, लेकिन उनका मानना है कि यदि जांच से पता चलता है कि इस तेज गेंदबाज ने बाद में इस तरह के व्यवहार की पुनरावृत्ति नहीं की तो फिर उन्हें दूसरा मौका मिलना चाहिए.

धोनी के फार्म हाउस पर दिखा दोस्ती का अनोखा नजारा, पत्नी साक्षी ने शेयर किया CUTE VIDEO

रॉबिनसन ने 2012 और 2013 में नस्लवाद और लिंगभेद से जुड़े ट्वीट किये थे, जो उनके हाल में टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने पर सोशल मीडिया में चर्चा का विषय बन गये थे. इसके बाद इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) ने उन्हें जांच लंबित रहने तक निलंबित कर दिया था. इस 27 वर्षीय खिलाड़ी का उनके साथियों ने समर्थन किया और कहा कि उन्होंने इस मामले में उन्हें माफ कर दिया है. होल्डिंग ने भी इस मामले में सहानुभूति वाला रवैया अपनाया, लेकिन रॉबिनसन को निलंबित करने के ईसीबी के फैसले को भी सही ठहराया.





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here