जयदेव उनादकट-राहुल तेवतिया के साथ टीम इंडिया का सेलेक्टरों ने की नाइंसाफी!

नई दिल्ली. श्रीलंका दौरे के लिए भारतीय टीम का ऐलान हो गया है. शिखर धवन की कप्तानी में टीम इंडिया अगले महीने श्रीलंका में तीन वनडे और तीन टी20 मैचों की सीरीज खेलेगी. बीसीसीआई ने इस दौरे के लिए 20 सदस्यीय भारतीय टीम चुनी है और तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को उपकप्तान बनाया है. इसके अलावा पांच नेट गेंदबाज को भी भारतीय टीम से जोड़ा गया है. श्रेयस अय्यर चोटिल होने की वजह से श्रीलंका टूर का हिस्सा नहीं होंगे जबकि जयदेव उनादकट और राहुल तेवतिया को टीम में जगह नहीं मिली है. भारत ने इंग्लैंड दौरे पर भी 20 सदस्यीय टीम भेजी है. यानि भारत के टॉप 40 खिलाड़ियों में उनादकट और तेवतिया का नाम नहीं है.

जयदेव उनादकट को तीन साल बाद भी मौका नहीं

29 वर्षीय तेज गेंदबाज उनादकट ने भारत के लिए साल 2010 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया था. बाएं हाथ का यह गेंदबाज भारत की तरफ से सात वनडे मैच और 10 टी20 मैच भी खेल चुका है लेकिन साल 2018 के बाद उन्हें टीम इंडिया में शामिल नहीं किया गया है. उनादकट का फर्स्ट क्लास और टी20 क्रिकेट में जबरदस्त रिकॉर्ड है. इस गेंदबाज ने 89 फर्स्ट क्लास मैचों में 327 और 150 टी20 मैचों में 182 विकेट लिए हैं. 2019-20 रणजी ट्रॉफी में जयदेव उनादकट के 67 विकेट लेने वाले खिलाड़ी रहे और अपनी टीम सौराष्ट्र को पहली बार रणजी चैंपियन बनाने में सफल रहे. आईपीएल 2021 के पहले चरण में राजस्थान रॉयल्स की तरफ से खेलते हुए उनादकट ने चार मैचों में चार विकेट लिए. भारतीय चयनकर्ताओं ने उनादकट की जगह राजस्थान रॉयल्स के लिए चेतन सकारिया पर भरोसा जताया है.

जयदेव उनादकट ने 2010 में एकमात्र टेस्ट मैच खेला था (PIC: PTI)

पिछले महीने ही एक इंटरव्यू में उनादकट ने कहा था कि अगले तीन-चार साल खुद को अपने खेल के शिखर पर देखते हैं. साथ ही भारतीय टीम चयनकर्ताओं की लगातार अनदेखी भी उन्हें अपनी क्षमता से बेहतर करने से नहीं रोक पायेगी. उनादकट ने कहा, ‘जब ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मुझे टीम में जगह नहीं मिली तो मुझे लगा था कि ये सही है, क्योंकि तब टीम में हर कोई फिट था. लेकिन बाद में जब अधिकतर खिलाड़ियों को चोट लगी और जिन क्रिकेटरों को उनकी जगह मौका दिया गया तो मुझे महसूस हुआ कि एक मौका मुझे भी मिलना चाहिए था.’ उनादकट को उम्मीद थी कि उन्हें इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए टीम इंडिया में जगह मिलेगी, लेकिन उन्हें स्टैंडबाई क्रिकेटरों में भी जगह नहीं मिली.

तीन महीने पहले ही टीम इंडिया में चुने गए थे तेवतिया

आईपीएल 2020 में राजस्थान रॉयल्स के ऑलराउंडर राहुल तेवतिया के प्रदर्शन ने सबका ध्यान अपनी ओर खींचा था. इसी वजह से तेवतिया को इस साल मार्च में हुए इंग्लैंड के खिलाफ पांच टी20मैचों की सीरीज के लिए चुना गया था. हालांकि इस लेग स्पिनर को एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला. इसके बाद आईपीएल में तेवतिया आईपीएल में अपनी फॉर्म को बरकरार नहीं रख पाए. आईपीएल 2021 के पहले सात मैचों में यह गेंदबाज सिर्फ दो विकेट लेने में सफल रहा.

rahul tewatia

राहुल तेवतिया आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स टीम का प्रतिनिधित्व करते हैं. (Video Grab/Instagram)

बतौर ऑलराउंडर टीम में हार्दिक पंड्या और क्रुणाल पंड्या शामिल हैं जबकि लेग स्पिनर के तौर पर युजवेंद्र चहल और राहुल चाहर को मौका मिला है. चहल भारत के नियमित टी20 और वनडे गेंदबाज हैं जबकि चाहर इस आईपीएल में जबरदस्त गेंदबाजी की है.

श्रीलंका दौरे के लिए टीम इंडिया- शिखर धवन (कप्तान), भुवनेश्वर कुमार (उपकप्तान), पृथ्वी शॉ, देवदत्त पडिक्कल, ऋतुराज गायकवाड़, सूर्यकुमार यादव, मनीष पांडे, हार्दिक पंड्या, नीतीश राणा, इशान किशन, संजू सैमसन, युजवेंद्र चहल, राहुल चाहर, कृष्णप्पा गौतम, क्रुणाल पंड्या, कुलदीप यादव, वरुण चक्रवर्ती, दीपक चाहर, नवदीप सैनी और चेतन सकारिया.

नेट गेंदबाज- इशान पोरेल, संदीप वॉरियर, अर्शदीप सिंह, साई किशोर और सिमरजीत सिंह.

भारत के श्रीलंका दौरे का कार्यक्रम

भारत और श्रीलंका के बीच 3 वनडे और 3 टी20 मैच खेले जाएंगे. वनडे सीरीज का पहला मैच 13 जुलाई को खेला जाएगा, दूसरा वनडे 16 और तीसरा मुकाबला 18 जुलाई को होगा. इसके बाद टीम इंडिया टी-20 सीरीज का पहला मैच 21 जुलाई को खेलेगी. दूसरा मैच 23 जुलाई और तीसरा टी20 मुकाबला 25 जुलाई को होगा. सभी मुकाबले कोलंबो के प्रेमदासा स्टेडियम में खेले जाएंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here