चीन के साथ LAC पर कैसे हैं हालात? राजनाथ सिंह के साथ दो पूर्व रक्षा मंत्रियों को CDS और सेना प्रमुख ने दी जानकारी

भारत और चीन के बीच पिछले साल से गतिरोध की स्थिति बनी हुई है. (सांकेतिक तस्वीर/ANI)

India China Ladakh LAC Tension: भारत और चीन के बीच पिछले साल मई की शुरुआत से पूर्वी लद्दाख में टकराव के कई बिंदुओं पर सैन्य गतिरोध बना हुआ है.

नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ चल रहे सीमा विवाद को लेकर प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत और थल सेना अध्यक्ष जनरल मनोज नरवणे ने पूर्व रक्षा मंत्री ए.के. एंटनी और शरद पवार को जानकारी दी. इस दौरान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद रहे. समाचार एजेंसी एएनआई ने शुक्रवार को सूत्रों के हवाले से यह खबर दी. सूत्र ने बताया कि दो पूर्व रक्षा मंत्रियों के पास हालात को लेकर कुछ स्पष्टीकरण और संदेह थे जिन्हें सीडीएस और सेना प्रमुख द्वारा स्पष्ट किया गया.

गौरतलब है कि भारत और चीन के बीच पिछले साल मई की शुरुआत से पूर्वी लद्दाख में टकराव के कई बिंदुओं पर सैन्य गतिरोध बना हुआ है. दोनों पक्षों ने सैन्य एवं राजनयिक वार्ताओं के बाद फरवरी में पैंगोंग झील के उत्तरी एवं दक्षिणी किनारों से अपने बलों एवं हथियारों को पीछे हटा लिया था. दोनों पक्ष टकराव के शेष क्षेत्रों से भी बलों को वापस बुलाने के लिए वार्ता कर रहे हैं. चीन ने 11वें दौर की सैन्य वार्ता के दौरान अपने दृष्टिकोण में कोई लचीलापन नहीं दिखाया और टकराव के शेष क्षेत्रों से बलों को पीछे हटाने की प्रक्रिया आगे बढ़ती नहीं दिख रही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.