गर्भवती महिलाओं के लिए कितनी सुरक्षित है कोरोना वैक्‍सीन?

गर्भवती महिलाओं के लिए कितनी सुरक्षित है कोरोना वैक्‍सीन?

गर्भवती महिलाओं के लिए कितनी सुरक्षित है कोरोना वैक्‍सीन?

गर्भवती महिलाओं (Pregnant Women) को कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) लगवानी चाहिए. जिस भी टीके को भारत सरकार और विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) से मान्यता मिली है वह पूरी तरह सुरक्षित है.

(सौम्या कलसा)

बेंगलुरु. कोरोना (Corona) के बढ़ते संक्रमण के बीच अब लोग वायरस के साथ जारी इस जंग में वैक्‍सीन (Vaccine) को अपना हथियार बना रहे हैं. यही कारण है कि धीरे धीरे लोगों में कोरोना टीका (Corona Vaccine) लगवाने के प्रति उत्साह बढ़ रहा है. दुनिया में उपलब्ध सारे टीकों का हर स्तर का ट्रायल गर्भवती महिलाओं पर नहीं हुआ है और यह सही भी है. लेकिन फ़ेडरेशन ऑफ़ अब्स्टेट्रिक एंड गायनॉकलाजिकल सोसायटीज ऑफ़ इंडिया (FOGSI) और इंटरनैशनल फ़ेडरेशन ऑफ़ गायनकॉलजी एंड अब्स्टेट्रिक्स (FIGO) ने गर्भवती और बच्चों को स्तनपान करानेवाली महिलाओं के टीका लेने को सुरक्षित करार दिया है.

इस विषय पर गर्भवती महिलाओं के कुछ आम प्रश्नों का उत्तर दे रही हैं डॉक्टर विद्या वी भट जो कि लेप्रोस्कोपिक सर्जन एंड फ़र्टिलिटी स्पेशलिस्ट, मेडिकल डायरेक्टर, राधाकृष्ण मल्टीस्पेशीऐलिटी हॉस्पिटल एंड आईवीएफ सेंटर, बेंगलुरु से जुड़ी हैं.

  • क्या गर्भवती महिलाएं टीका ले सकती हैं? उन्हें कौन सा टीका लेना चाहिए?

    उन्हें टीका ले लेना चाहिए. जिस भी टीके को भारत सरकार और विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) से मान्यता मिली है वह पूरी तरह सुरक्षित है.

  • किस तिमाही में कोई गर्भवती महिला टीका ले सकती है?

    गर्भवती महिला पहली, दूसरी और तीसरी तिमाही में टीका ले सकती है. उनको इस सुरक्षा कवच से दूर रखने का कोई कारण नहीं है. फिर भी अगर आपको संदेह है, तो गर्भवती महिला चाहें तो पहली तिमाही में टीका नहीं भी ले सकती हैं क्योंकि कई महिलाओं को उबकाई और अन्य तरह की शिकायतें होती हैं. इसके साथ ही टीका लगवाने से भी कुछ लोगों में कुछ साइड इफ़ेक्ट होते हैं.

  • टीका लेने के बाद गर्भवती महिलाओं में किस तरह के साइड इफ़ेक्ट हो सकते हैं?

    टीका लेने से होनेवाले साइड इफ़ेक्ट जीवन को नुकसान पहुँचाने वाले नहीं होते और हर किसी में एक ही जैसा साइड इफ़ेक्ट होता है, भले ही वह गर्भवती हो या नहीं हो. कुछ महिला को उबकाई, उल्टी, बदन दर्द और हल्का बुखार हो सकता है. इन सभी का इलाज है और गर्भवती महिला को इनमें से किसी के लिए भी कोई भी दवा लेने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए.

  • क्या कोई स्तनपान करानेवाली महिला टीका ले सकती है?

    हां. इस बात का कोई डाटा नहीं है जो यह बताए कि दूध के सहारे टीका मां या बच्चे को नुक़सान पहुंचा सकता है. इसलिए स्तनपान करानेवाली महिलाओं को टीका लेने की सलाह दी जाती है, जब भी उनकी बारी आती है.

  • बच्चे के जन्म के कितने दिन/सप्ताह के बाद बच्चे की मां टीका ले सकती है?

    आपके घर जाने और आपके घाव के ठीक हो जाने तक. इसमें एक से दो सप्ताह का समय लग सकता है और इसके बाद शीघ्र ही टीका ले सकती हैं.

  • अगर कोई महिला IVF की प्रक्रिया से गुजर रही है तो क्या वह टीका ले सकती है?

    निश्चित रूप से. कोई महिला IVF प्रक्रिया के किसी भी स्टेज में है, वह टीका ले सकती है. टीका इस प्रक्रिया में किसी तरह से दख़लंदाज़ी नहीं करता





अगली ख़बर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here