खेसारीलाल के बरल खीस, पत्रकार लोग के धमकवले- बाट लगा देंगे

पंकज सिंह नाम के गवैया के गावल गीत पर खेसारीलाल अब लाल-पीयर भइल बाड़े. ओकरा गाना के बोल बा- खेसरिया के बेटी सपनवा में आती है. सांच कहीं त एकर शुरुआत खेसारीलाल पहिले कइले. ऊ गवले रहले- चचिया के बचिया सपनवा में आती है. ओही के तर्ज पर पंकज सिंह गवले बाड़े.

फूहर भोजपुरी गीत खातिर मशहूर एक्टर आ गायक खेसारीलाल यादव एह घरी खूब खिसियाइल बाड़े. लड़किन आ जाति के नाम लेके गीत गवला से लोग के नजर में ऊ पहिलहीं से चढ़ल रहले हां. अबकी बेर एगो गवैया उनकर जवाब दिहले बा. पंकज सिंह नाम के गवैया के गावल गीत पर खेसारीलाल अब लाल-पीयर भइल बाड़े. ओह गाना के कवनो यू ट्यूब चैनल चलवले बा. ओकरा गाना के बोल बा- खेसरिया के बेटी सपनवा में आती है. सांच कहीं त एकर शुरुआत खेसारीलाल पहिले कइले. ऊ गवले रहले- चचिया के बचिया सपनवा में आती है. ओही के तर्ज पर पंकज सिंह गवले बाड़े. पंकज के नाम खेसारीलाल अइसन अबहीं नइखे भइल, बाकिर एह गीत के खेसारीलाल के माकूल जवाब मानल जाता.

एह गीत पर खेसारीलाल के एतना खींस बरल कि ऊ 3 मई के अपना फेसबुक पेज पर लाइव होके डिजिटल मीडिया के पत्रकारन के खूब हड़कवले. ऊ वीडियो खूब वायरल होता. खेसारी कह रहल बाड़े- ‘कोई मेरी तस्वीर लगा कर मेरे खिलाफ खबर चलायेगा या दिखायेगा, उसकी और उसके परिवार की बाट लगा देंगे. चैनल बंद करा देंगे.‘ ई बात ऊ घुमा फिरा के एक बेर ना कई बेर दोहरवले बाड़े. उनका एही बात के खींस बा कि यू ट्यूब पर उनकरा बेटी के जिकिर कइल गीत काहें चलल. सुने में त इहो आवत बा कि खेसारी ओह गवैया के पिटवाइयो दिहले बाड़े. बाकिर एह बारे में गवैया पंकज सिंह का ओर से ना कवनो थाना में रपट लिखाइल बा आ ना कवनो बयान आइल बा.

खेसारीलाल भोजपुरी में फूहर गीत के अगुआ बन गइल बाड़े. दूगो अर्थ वाला गीत कुछ लोग के नीमन त लागेला, बाकिर ढेरे लोग एकरा खिलाफ बा. सानिया मिर्जा के जब पाकिस्तानी दुलहा से बियाह होखे के रहे, ओही समय खेसारीलाल एगो गीत गवले- सानिया दुलहा खोजली पाकिस्तानी. ई गीत खूब हिट भइल आ ओही जा से खेसारीलाल चर्चा में अइले. खेसारी के मूल नाम शत्रुघ्न प्रसाद यादव ह, बाकिर चर्चा में आवे खातिर ऊ आपन नाम गायन क्षेत्र में खेसारी लाल राख लिहले. उनकरा फूहर गीतन के मुखड़ा नमूना के रूप में देखल जा सकेला- चूसता देवरा.., लहंगा में मीटर…, तोरा माई के मिस काल मार देनी…,चचिया के बचिया सपनवा में आती है…बलम के बिगड़लस बंगलिनियां.

केहू एह गीतन के अपना घर में परिवार के संगे ना सुन सकेला, बाकिर बस, टेंपो आ ट्रक ड्राइवरन के ई कुल गीत बेसी भावेला. अब त ट्रैक्टर हांके वाला ड्राइवर खेतत जोतत में फुल वाल्यूम में खेसारी के गीत बजा के मस्त रहत बाड़े सन. बाकिर बस भा टेंपो में परिवार के संगे बइठल लोग कह के बंद करावेला. फूहर गीत गवला से खेसारीलाल के जेतने विरोधी बाड़े, ओकरा से बेसी उनकर फैन लोग बा. फेसबुक लाइव में जब मीडिया के ऊ हड़कावत रहले ओकरा पर तीन दिन में 128 हजार लाइक, 58 हजार कमेंट, 8.4 हजार शेयर आ 1.2 मिलियन व्यू मिलल बा. ई उनकर लोकप्रियता के आलम बा. बिहार के मीडिया जगत में जहां एह धमकी के लेके खुसुर फुसुर शुरू भइल बा, उहवें खेसारी के जिला (सारण) के पत्रकार लोग डेराइल बा. खेसारीलाल के मानल जाव त अब ऊ कुछऊ गावस त ओई पर कवनो आलोचना वाली खबर केहू ना लिख पाई. उनकर फोटो भा खबर लगावे के पहिले उनका से परमिसन लेबे के परी.खेसारीलाल बतावे ले कि ऊ बीएसएफ के जवान रह चुकल बाड़े, बाकिर गांव-जवार के लोग बतावेला कि पहिले ऊ नाच पाटी में रहले. बाद में कीर्तन-अठजाम में झाल बजावत फिरस. अब ऊ बड़का गवैया हो गइल बाड़े. उनका पर कई जने के गीत चोरावे के भी आरोप लागेला. बतावल जाला कि रीतेश पांडेय के गीत ऊ चोरा के गवले- लहंगा लखनउआ. एही तरे शिल्पी राज कहेली कि उनकरो गीत खेसारी चोरवले बाड़े. (ओमप्रकाश अश्क वरिष्ठ पत्रकार हैं. यह उनके निजी विचार हैं.)





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here