WTC Final: केन विलियमसन का रिकॉर्ड विदेश में बेहद खराब (फोटो-एएफपी)

केन विलियमसन की नंबर 1 टेस्ट रैंकिंग छिननी तय (फोटो-एएफपी)

केन विलियमसन की नंबर 1 टेस्ट रैंकिंग छिननी तय (फोटो-एएफपी)

केन विलियमसन (Kane Williamson) चोट की वजह से इंग्लैंड के खिलाफ बर्मिंघम टेस्ट में नहीं खेल पाएंगे. इसी के साथ वो अब नंबर 1 टेस्ट बल्लेबाज नहीं रहेंगे

नई दिल्ली. इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट से पहले न्यूजीलैंड की टीम को बड़ा झटका लगा है. चोट के चलते उसके कप्तान केन विलियमसन बर्मिंघम टेस्ट से बाहर हो गए हैं. केन विलियमसन की कोहनी में चोट लगी हुई है और इसी वजह से उन्हें दूसरे टेस्ट में आराम दिया गया है. केन विलियमसन की जगह अब टॉम लैथम न्यूजीलैंड की कमान संभालेंगे वहीं विल यंग को विलियमसन की जगह टीम में मौका मिलेगा. बता दें केन विलियमसन के दूसरे टेस्ट से बाहर होते ही अब उनका नंबर 1 टेस्ट रैंकिंग से हटना तय हो गया है. उनकी जगह स्टीव स्मिथ एक बार फिर टेस्ट रैंकिंग के अर्श पर पहुंचने वाले हैं.

दरअसल केन विलियमसन के दूसरे टेस्ट में नहीं खेलने से उन्हें 9 रेटिंग प्वाइंट का नुकसान होगा और इसी के साथ स्टीव स्मिथ नंबर 1 टेस्ट बल्लेबाज बन जाएंगे. फिलहाल केन विलियमसन के 895 रेटिंग प्वाइंट हैं. दूसरे टेस्ट में नहीं खेलने से उनके यही अंक 886 रह जाएंगे. इस तरह स्टीव स्मिथ विलियमसन से 5 अंक आगे निकल जाएंगे क्योंकि उनके 891 रेटिंग प्वाइंट हैं.

पहले टेस्ट में फ्लॉप होने से भी नुकसान

बता दें केन विलियमसन को इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट में फ्लॉप होने का भी काफी नुकसान हुआ. विलियमसन पहली पारी में 13 और दूसरी पारी में महज 1 रन बना सके. पहली पारी में वो एंडरसन की गेंद पर बोल्ड हुए वहीं दूसरी पारी में उन्हें डेब्यू कर रहे गेंदबाज ऑली रॉबिनसन ने LBW आउट किया.दूसरे टेस्ट से विलियमसन के बाहर होने पर न्यूजीलैंड के कोच गैरी स्टीड ने कहा कि उन्हें वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल को देखते हुए आराम दिया गया है. उन्होंने कहा, ‘केन विलियमसन को दूसरे टेस्ट में आराम देना आसान फैसला नहीं है लेकिन ये सही जरूर है. उन्हें कोहनी में इंजेक्शन लगाया गया था और बल्लेबाजी के दौरान उन्हें तकलीफ हो रही थी. आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल को देखते हुए विलियमसन को आराम देना सही फैसला है. हमें यकीन है कि विलियमसन फाइनल मैच खेलेंगे.’





LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here